नई दिल्ली| देश की सबसे लंबी सुरंग के उद्घाटन के लिए जम्मू कश्मीर की यात्रा पर आ रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ विरोध के तहत अलगाववादियों ने आम हड़ताल का आह्वान किया है। प्रधानमंत्री श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित इस सुरंग का दो अप्रैल को उद्घाटन करेंगे।Also Read - Amit Shah ने Pulwama terror attack में शहीद 40 CRPF जवानों को दी श्रद्धांजलि

हुर्रियत कांफ्रेंस के विरोधी धड़ों के अध्यक्ष सैयद अली शाह गिलानी और मीरवाइज उमर फारूक तथा जेकेएलएफ अध्यक्ष मोहम्मद यासिन मलिक ने श्रीनगर में एक संयुक्त बयान में कहा, ‘‘दो अप्रैल को मोदी की प्रस्तावित यात्रा के विरोध में पूर्ण बंद होना चाहिए। विकास या सुरंगों एवं सड़कों के निर्माण के बारे तमाम बयान व्यर्थ हैं और ये हमें लुभाने में सफल नहीं होंगे।’’ उन्होंने कहा कि बंद का आह्वान या बंद से समय की मांग पूरी नहीं होती लेकिन प्रशासन ने दूसरा कोई विकल्प नहीं छोड़ा है। Also Read - अमित शाह ने बुलेट प्रूफ ग्लास हटवाने के बाद दिया भाषण, पाक के बजाय, जम्मू-कश्मीर के युवाओं से बात करेंगे

घाटी में पिछले साल हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकवादी बुरहान वानी की सुरक्षा बलों के हाथों मौत होने के बाद से हुई अशांति में 85 लोगों की जान जा चुकी है और हजारों लोग घायल हुए हैं। Also Read - गृह मंत्री अमित शाह ने आगे बढ़ाया अपना जम्मू-कश्मीर दौरा, पुलवामा में CRPF के साथ बिताएंगे रात

अलगाववादियों ने कहा कि हमें प्रधानमंत्री से कोई शत्रुता या वैमनस्य नहीं है लेकिन यह अत्यंत पीड़ादायक है कि राज्य में हुए नरसंहार पर ध्यान देने के बजाय वह हत्या करने वालों को पुरस्कृत कर रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि कश्मीर एक राजनीतिक मुद्दा है न कि प्रशासन, आर्थिक पैकेजों या कानून व्यवस्था की समस्या है।