नई दिल्ली: सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (Serum Institute of India) के सीईओ अदार पूनावाला (Adar Poonawalla) ने कहा है कि वह एस्ट्राजेनेका के साथ अरेंजमेंट के चलते अगले एक साल में कोविशील्ड वैक्सीन की एक बिलियन खुराक बना लेंगे. यह डोज भारत और अन्य निम्न और मध्यम-आय वाले देशों के लिए होंगी. Also Read - 216 Crore Vaccine Doses To Be Available In 5 Months: अगस्त के दिसंबर के बीच मिलेंगी टीके की 216 करोड़ खुराकें, दूर होगा संकट

आईएएनएस के साथ साक्षात्कार में पूनावाला ने कहा, “हम एक व्यक्तिगत जोखिम पर कुछ लाख खुराक का उत्पादन शुरू करेंगे. अब तक परीक्षणों में जो सफलता मिली है उसके आधार पर हम इसे इस साल के अंत तक लॉन्च करने की उम्मीद कर रहे हैं. मेरा मानना है कि अगले साल की पहली तिमाही तक यह लोगों तक पहुंचना शुरू हो जाएगा.” Also Read - Rajasthan Govt Will Procure Covid-19 Vaccine from Global Market: सीधे विदेश से वैक्सीन खरीदेगी राजस्थान सरकार, शुरू की प्रक्रिया

पूनावाला ने कहा, “जैसे ही हमें आवश्यक रेगुलेटरी अप्रूवल्स मिलेंगे हम बड़ी मात्रा में निर्माण शुरू कर देंगे. हम हर महीने लगभग 60-70 मिलियन यानी कि 6 से 7 करोड़ खुराक का निर्माण करेंगे (जो बाद में 100 मिलियन खुराक तक जा सकता है). इसके साथ ही इस साल के अंत तक हम लगभग 300-400 मिलियन यानी कि 30 से 40 करोड़ डोज बनाना चाहते हैं.” Also Read - राज्यों को आगामी तीन दिन में मिलेंगी कोविड-19 टीके की सात लाख और खुराकें: केंद्र

उन्होंने कहा कि हमें भारत में तीसरे चरण के क्लीनिकल ट्रायल्स के अगस्त 2020 तक शुरू होने की उम्मीद है. इसमें हम भारत में 4000 से 5000 रोगियों को देखने की योजना बना रहे हैं.

वैक्सीन के मूल्य निर्धारण को लेकर उन्होंने कहा, “वैक्सीन की कीमत पर टिप्पणी करना बहुत जल्दबाजी होगी. हालांकि, हम इसे 1,000 रुपये से कम रखेंगे. हम पहले भी कह चुके हैं कि हमारा उद्देश्य एक प्रभावशाली और सस्ती वैक्सीन उपलब्ध कराना है. हमें लगता है कि यह सरकारों द्वारा खरीदी जाएंगी और बिना किसी शुल्क के वितरित की जाएंगी.”