नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली और हरियाणा में शनिवार को उमस भरी गर्मी के बाद अरब सागर और बंगाल की खाड़ी से चली तेज हवाओं के दोतरफा असर के कारण दोपहर बाद धूल भरी आंधी और बारिश ने गर्मी से आंशिक राहत दी. मौसम विभाग की क्षेत्रीय पूर्वानुमान इकाई के प्रमुख डा. कुलदीप श्रीवास्तव ने बताया शनिवार की शाम को मौसम में आए बदलाव का असर अगले 24 घंटे तक बरकरार रहेगा. श्रीवास्तव ने बताया कि दिल्ली एनसीआर इलाके में सुबह से ही उमस बढ़ने का सिलसिला जारी रहा लेकिन अरब सागर से चली तेज हवाओं ने राजस्थान होते हुए दोपहर तक हरियाणा में और बंगाल की खाड़ी से चली तेज हवाओं ने उत्तर प्रदेश से होते हुए दिल्ली एनसीआर में शाम को धूल भरी आंधी की स्थिति पैदा कर दी. Also Read - दिल्ली में कोरोना वायरस का डाउन ट्रेंड शुरू हो चुका है: दिल्ली सरकार

उल्लेखनीय है कि हरियाणा में कुछ घंटे तक आंधी का दौर बरकरार रहने के बाद राज्य के अधिकांश इलाकों में हल्की बारिश हुई वहीं दिल्ली एनसीआर क्षेत्र में लगभग आधा घंटे तक धूल भरी आंधी के बाद शुरू हुई बारिश के कारण तापमान में गिरावट दर्ज की गई. राष्ट्रीय राजधानी में न्यूनतम तापमान 30 डिग्री और अधिकतम तापमान 40.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

श्रीवास्तव ने बताया कि मौसम विभाग ने तेज गर्मी के मौसम में शनिवार को बदलाव आने का पूर्वानुमान दो दिन पहले ही जताया था. उन्होंने कहा कि दिल्ली, हरियाणा के अलावा राजस्थान और उत्तर प्रदेश के कुछ इलाकों में हवा के कम दबाव का क्षेत्र अगले 24 घंटे तक बरकरार रहने के कारण रविवार को भी बादल छाए रहने और हल्की बारिश होने की संभावना है. सोमवार और मंगलवार को इस क्षेत्र में बादल छाए रहने के बीच उमस भरी गर्मी फिर बढ़ेगी.

वहीं मानसून ने शनिवार को मुंबई में दस्तक दे दी. भारी बारिश की वजह से मुंबई के कई इलाकों में पानी भर गया है. मौसम विभाग ने पूर्वानुमान जारी किया है कि पूरे हफ्ते मुंबई में भारी बारिश होगी. भारतीय मौसमविज्ञान विभाग ने मुंबई, कोंकण-ठाणे के इलाकों, अहमदनगर, परभनी और महाराष्ट्र के अन्य भागों में मॉनसून की शुरुआत की शनिवार को घोषण की. आईएमडी के उप निदेशक केएस होसालिकर ने बताया कि शनिवार सुबह साढ़े आठ बजे तक उपनगरीय इलाकों में भारी बारिश दर्ज की गई.