नई दिल्ली: नागरिकता कानून के खिलाफ देशभर में लगातार विरोध प्रदर्शन जारी है. ऐसे में शाहीन बाग में चल रहे विरोध प्रदर्शन के बीच धारा 144 लागू कर दी गई है. इस बाबत पुलिस ने नोटिस जारी कर कहा कि शाहीन बाग क्षेत्र में इकट्ठे न हो साथ ही किसी प्रकार का प्रदर्शन ना करें. ऐसा करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. नागरिकता कानून के खिलाफ शाहीन बाग में पिछले 2 महीने से महिलाएं सड़क पर बैठी हुई है. Also Read - Coronavirus: गौतम बुद्ध नगर जिले में लगाई गई धारा 144 की अवधि 14 अप्रैल तक बढ़ाई गई

इस बारे में संयुक्त कमिश्नर डीसी श्रीवास्तव ने कहा कि किसी प्रकार की अनहोनी घटना न हो इसलिए एहतियात के तौर पर शाहीन बाग इलाके में भारी पुलिस की तैनाती की गई है. साथ ही हमारा उद्देश्य कानून व्यवस्था को बनाए रखा और किसी प्रकार की अप्रिय घटना को रोकना है. बता दें कि हिंदू सेना की तरफ से विरोध प्रदर्शन स्थल पर से महिलाओं को हटाने की मांग की गई थी. साथ ही हिंदू सेना ने शाहीन बाग के रास्ते को खुलवाने के ऐलान किया था. हालांकि दिल्ली में भड़की हिंसा के बाद हिंदू सेना ने अपना फैसला बदल लिया.

बता दें कि बीते दिनों नार्थ ईस्ट दिल्ली में भीषण हिंसा देखने को मिली. नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन करने वाले और नागरिकता कानून के समर्थन में प्रदर्शन करने वाले लोगों के बीच पथराव ने बाद में हिंसा का रूप ले लिया. इस हिंसा में कई नागरिकों की मौत हुई है साथ ही एक आईबी के जवान व हेड पुलिस कॉन्सटेबल की भी मौत हो चुकी है. इस लिहाज से किसी प्रकार की ऐसी घटना शाहीन बाग में न घटे इसलिए प्रशासन की तरफ से पूरे इलाके में धारा 144 लागू कर दिया गया है.