नई दिल्ली: नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) का विरोध कर रहे शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों ने शुक्रवार को यहां प्रदर्शनस्थल पर, पिछले साल जम्मू एवं कश्मीर के पुलवामा में आत्मघाती हमले में शहीद हुए केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित की. पिछले साल 14 फरवरी को पुलवामा में जैश-ए-मुहम्मद (जैश) के आत्मघाती हमलावर ने सीआरपीएफ केकाफिले पर हमला किया था. इस आतंकी हमले में 40 जवान शहीद हो गए थे.

सीएए और एनआरसी के विरोध का केंद्र बन चुके शाहीन बाग में एक प्रदर्शनकारी ने कहा, “हमने हमले की बरसी पर गुरुवार और शुक्रवार की दरम्यानी रात जवानों को याद किया और शहीदों के लिए कैंडल मार्च निकाला.” प्रदर्शनकारी ने आगे कहा, “आज के दिन यहां कोई भाषण नहीं होगा, सिर्फ देश के जवानों को याद किया जाएगा. शहीदों की याद में शुक्रवार शाम देशभक्ति के गीत गाए जाएंगे और जवानों की याद में प्रस्तुतियां भी होंगी.”

प्रदर्शनकारियों ने कहा, “शहीदों के परिजन यहां आएं, इसके लिए हम उनसे संपर्क कर रहे हैं. फिलहाल उनके यहां आने को लेकर कुछ तय नहीं हो पाया है.” खबरों के अनुसार, फिल्म निर्माता अनुराग कश्यप शुक्रवार शाम लगभग पांच बजे शाहीन बाग पहुंच सकते हैं.

(इनपुट आईएएनएस)