नई दिल्ली: दिल्ली के शाहीनबाग में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारियों ने शनिवार शाम नोएडा जाने वाले कालिंदी कुंज मार्ग को खोल दिया. प्रदर्शनकारियों ने कहा, “हमने शनिवार शाम 5 बजे नोएडा से कालिंदी कुंज (वाया 9 नंबर रोड ओखला) सड़क को खोल दिया है.” Also Read - मौलाना साद को गिरफ्तार नहीं करेगी दिल्ली पुलिस, सामने आए तो क्वारंटाइन में रखा जाएगा

उन्होंने कहा कि इस सड़क को खुद दिल्ली पुलिस ने अवरुद्ध कर रखा था. गौरतलब है कि इससे पहले, सीएए के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारियों से बात करने के लिए सुप्रीम कोर्ट की ओर से नियुक्त वार्ताकार साधना रामचंद्रन की चौथे दिन की बातचीत बेनतीजा रही थी. Also Read - भारत में लॉकडाउन! दिल्ली पुलिस ने लोगों को चेताया, भूलकर भी न खोलें ये वेबसाइट, नहीं तो...

साधना ने प्रदर्शनकारियों से बातचीत करने के बाद गुरुवार देर शाम सड़क का जायजा लिया था, जिसके बाद उन्होंने पुलिस को कहा था कि आप इस सड़क को अपनी तरफ से खोल दीजिए. हालांकि, शुक्रवार सुबह मार्ग को थोड़ी देर के लिए खोला गया था, लेकिन जल्द ही उसे फिर बंद करना पड़ा. Also Read - शाहीनबाग का प्रदर्शनकारी कोरोना से ग्रस्त, कहा 1 महीने से नहीं गया धरनास्थल

शाहीनबाग में पिछले 70 दिनों से सीएए और एनआरसी के खिलाफ प्रदर्शन चल रहा है. सुप्रीम कोर्ट ने रास्ता खुलवाने के लिए दो वातार्कारों संजय हेगड़े और साधना रामचंद्रन को वार्ता के लिए नियुक्त किया है. वे लगातार तीन दिनों से प्रदर्शनकारियों से बातचीत करने शाहीनबाग आ रहे हैं.

इससे पहले लगातार चौथे दिन शनिवार सुबह वार्ताकार साधना रामचंद्रन यहां पहुंचीं और उन्होंने प्रदर्शनकारियों को रास्ता खोलने के लिए समझाया. प्रदर्शनकारियों ने वार्ताकार के समक्ष सात मांगें रखते हुए कहा था कि जब तक सीएए वापस नहीं लिया जाता, तब तक रास्ते को खाली नहीं किया जाएगा. फिलहाल पुलिस ने कालिंदी कुंज मार्ग को खोल दिया है.