औरंगाबादः भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जे पी नड्डा ने यहां कहा कि राकांपा प्रमुख शरद पवार के हालिया बयान दर्शाते हैं कि वह महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में हार सामने देख “संयम” खो बैठे हैं. उन्होंने विपक्षी दलों पर भी निशाना साधते कहा कि जो “जेल और ईडी के बीच भाग रहे हैं”, वे राज्य को आगे नहीं ले जा सकते.

नड्डा 21 अक्टूबर को होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले एक रैली को संबोधित कर रहे थे. मुख्यमंत्री देवेन्द्र फड़णवीस ने दावा किया था कि भाजपा-शिवसेना को हराने के लिये कोई विपक्ष नहीं बचा है. उनके इस बयान की पवार ने शनिवार को आलोचना की. नड्डा ने कहा, “शरद पवार के शब्द साफ दर्शाते हैं कि वह अपना संयम खो चुके हैं. वह हार अपने सामने देख सकते हैं.”

दिल्ली में भाजपा नेताओं पर फेंका गया पटाखा, बाल-बाल बचे मनोज तिवारी

उन्होंने कहा, “जो नेता “जेल और ईडी के बीच भाग रहे हैं” वे राज्य को विकास की राह पर आगे नहीं ले जा सकते.” प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने हाल ही में शरद पवार और उनके भतीजे तथा पूर्व उपमुख्यमंत्री अजीत पवार के खिलाफ महाराष्ट्र राज्य सहकारी बैंक घोटाले से जुड़े धनशोधन मामले में नामजद किया था. इससे पहले अंबाड़ में एक रैली में नड्डा ने कहा कांग्रेस और (राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी) राकांपा के नेता बेल (जमानत) और जेल के “चक्रव्यूह” में फंसे हुए हैं.

शरद पवार पर जमकर बरसे देवेंद्र फडणवीस, बोले- आपके सिर पर है किसानों की आत्महत्या का पाप

आपको बता दें कि भाजपा ने अपने चुनावी मेनिफेस्टो पर 10 रुपये में भरपेट भोजपन का वादा किया है और इसके लिए पूरे प्रदेश में हजारों की संख्या में स्टॉल खुलवाने का भी वादा किया है. शरद पवार ने अपने एक बयान में इस योजना का मजाक उड़ाते हुए कहा था कि 1990 के दशक में भी एक बार इस तरह की योजना शुरू हुई थी और अब वे लोग राजनीति से गायब हो गए है और भाजपा का भी भविष्य में यही हाल होने वाला है. पवार ने कहा कि जनता आपसे प्रदेश चलाने के लिए कह रही है न कि भोजन पकाने  के लिए.