मुंबई: राकांपा नेता अजित पवार ने कहा है कि जहां उनके चाचा और पार्टी अध्यक्ष शरद पवार चार बार महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री रह चुके हैं, वहीं वह ‘किसी तरह’ चार बार उपमुख्यमंत्री बन पाए हैं. उन्होंने पुणे जिले में अपने निर्वाचन क्षेत्र बारामती में शनिवार को एक कार्यक्रम में यह बात कही. Also Read - जम्मू में जुटे ‘ग्रुप ऑफ 23’ के नेता, कांग्रेस बोली- चुनावी राज्यों में प्रचार कर अपनी पार्टी के प्रति निष्ठा दिखाएं

शरद पवार बोले- राउत को इंदिरा गांधी के बारे में टिप्पणी नहीं करनी चाहिए थी Also Read - India vs England ODI Series: भारत बनाम इंग्लैंड वनडे सीरीज में नहीं होंगे दर्शक, जानिए क्या है वजह

60 वर्षीय नेता ने कहा कि मैं एक पार्टी कार्यकर्ता हूं, जिसने ‘साहेब’ (शरद पवार) को चार बार मुख्यमंत्री बनते देखा है. मैं भी किसी तरह चार बार उपमुख्यमंत्री बना. उन्होंने श्रोताओं के ठहाके के बीच कहा कि अगर साहेब चार बार मुख्यमंत्री बन सकते हैं, तो मैं (उपमुख्यमंत्री) क्यों नहीं बन सकता. अजित पवार 1999-2014 के दौरान महाराष्ट्र में कांग्रेस-राकांपा गठबंधन के 15 वर्षों के शासनकाल के दौरान दो बार उप मुख्यमंत्री रहे. बाद में पिछले साल 23 नवंबर को उन्हें एक बार फिर से तब उपमुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई गई जब उन्होंने राकांपा के खिलाफ बगावत करके भाजपा से हाथ मिला लिया था. हालांकि, तीन दिन बाद 26 नवंबर को ही उन्होंने पद से इस्तीफा दे दिया, जिसकी वजह से देवेंद्र फडणवीस नीत सरकार गिर गई. Also Read - केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के आवास के बाहर कांग्रेस का प्रदर्शन, पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों का विरोध

अनेकों ने सोचा मैं रिटायर होऊंगा, लेकिन लोगों ने ऐसा नहीं होने दिया: NCP Chief शरद पवार

30 दिसंबर को चौथी बार उप मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली
पिछले साल 30 दिसंबर को उन्होंने उद्धव ठाकरे नीत महाराष्ट्र विकास आघाड़ी सरकार में चौथी बार उप मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली. उनके चाचा शरद पवार पहली बार जुलाई 1978 से फरवरी 1980 तक महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री रहे. उसके बाद वह जून 1988 से मार्च 1990 तक महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री रहे. तीसरी बार वह मार्च 1990 से जून 1991 तक राज्य के मुख्यमंत्री रहे. वह चौथी बार मार्च 1993 से मार्च 1995 तक राज्य के मुख्यमंत्री रहे. (इनपुट एजेंसी)