नई दिल्ली: राजधानी और दुरंतो ट्रेन में खाने के मेन्यू में हुए बदलाव के बाद अब बारी है शताब्दी ट्रेन की. IRCTC ने इसके लिए पूरी तैयारी कर ली है और अब जल्द ही शताब्दी ट्रेन में भी कॉम्बो मील लोगों को खाने के लिए मिलेगी. शुरू में इस योजना को कुछ शताब्दी ट्रेनों में लॉन्च किया जाएगा और धीरे-धीरे सभी शताब्दी ट्रेनों में इसे लागू कर दिया जाएगा. Also Read - PM नरेंद्र मोदी का नया रिकॉर्ड, सबसे लंबे समय तक रहने वाले पहले गैर-कांग्रेसी प्रधानमंत्री बने

शताब्दी ट्रेन के लिए तय हुए नए मेन्यू को अप्रूवल के लिए रेलवे बोर्ड के पास भेज दिया गया है. अब जल्द ही इस पर कोई फैसला होने की उम्मीद है, एक बार रेलवे बोर्ड से मंजूरी मिलते ही शताब्दी ट्रेनों में इस कॉम्बो मील को लागू कर दिया जाएगा. उम्मीद है कि यह जुलाई के अंत या अगस्त के शुरू में लागू हो जाएगा. Also Read - Russia Vaccine Update: रूस ने बना ली कोरोना की वैक्सीन, क्या भारत भी करेगा इस्तेमाल, जानें एम्स की राय

IRCTC भारतीय रेलवे की तरफ से केटरिंग, टूरिज्म और टिकटिंग का जिम्मा देखती है. IRCTC ने फूड मेन्यू तैयार करवाने के लिए दो सर्वे करवाए थे. पहला सर्वे राजधानी, दुरंतो और शताब्दी ट्रेनों पर था जबकि दूसरा सर्वे सिर्फ शताब्दी ट्रेन के लिए किया गया था. पहले सर्वे में अधिकतर लोगों ने फुल मील के विकल्प को चुना था. सर्वे के मुताबिक 50 फीसदी यात्रियों ने आम भोजन के मुकाबले कॉम्बो मील को चुना है. Also Read - रूस में कोरोना की वैक्सीन ‘Sputnik V’ बनकर तैयार, भारत सहित 20 देशों ने दिया 100 करोड़ डोज का ऑर्डर

क्या है कॉम्बो मील में?
शताब्दी ट्रेन के लिए तय किए गए नए कॉम्बो मील में राजमा-चावल और छोले भठूरे जैसी फूड आइटम लोगों को खाने को मिलेंगे. इसके अलावा IRCTC ने तय किया है कि लोकल माहौल को ध्यान में रखते हुए दक्षिण भारत में चलने वाली ट्रेनों में कॉम्बो मील में इडली सांभर को भी शामिल किया जाएगा.