मुजफ्फरनगर: बीजेपी के नाराज चल रहे पार्टी के सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने राफेल विमान सौदे को लेकर केंद्र की, अपनी ही पार्टी की सरकार की आलोचना की है. बिहार से भाजपा के सांसद ने सभी विपक्षी नेताओं से 2019 के आम चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को हराने के लिए एकजुट होने की अपील की. Also Read - 'मैं महाराजा, टाइगर और मामा नहीं और न चाय बेचता हूं, मैं कमलनाथ हूं'

सिन्हा ने कहा कि फ्रांसीसी प्रकाशन ने वहां के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद के हवाले से खबर दी थी कि भारत सरकार ने इस सौदे के लिए फ्रांसीसी एयरोस्पेस कंपनी दसाल्ट एविएशन के सहयोगी के तौर पर रिलायंस डिफेंस का नाम प्रस्तावित किया था. Also Read - मध्य प्रदेश: विभागों के बंटवारे में सिंधिया ने फंसाया ऐसा पेंच कि चकरा गए शिवराज, मामला दिल्ली पहुंचा

जिले के तावली गांव में रविवार को आयोजित किसानों की पंचायत कार्यक्रम में सिन्हा ने कहा कि यह सवाल पूछा जा रहा है कि हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड जैसी अनुभवी कंपनी को अलग क्यों रखा गया और राफेल सौदे के लिए एक नयी कंपनी को ठेका क्यों मिला. Also Read - केंद्रीय मंत्री सारंगी क्‍वारंटीन हुए, कोरोना पॉजिटिव MLA के साथ साझा किया था मंच

बिहार से भाजपा के सांसद सिन्‍हा ने सभी विपक्षी नेताओं से 2019 के आम चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को हराने के लिए एकजुट होने की अपील की. पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवन्त सिन्हा और दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया ने भी किसानों को संबोधित किया.

फ्रांस से 36 राफेल विमानों की खरीद के लिए 58 हजार करोड़ रुपए के सौदे को लेकर केंद्र में सत्तारूढ़ भाजपा और विपक्षी कांग्रेस के बीच आरोप प्रत्यारोप का दौर जारी है.