हाई प्रोफाइल शीना मर्डर केस में लगातार हो रहे खुलासो के बीच एक नयी खबर आयी है कि महाराष्ट्र सरकार ने केस की जांच सीबीआई को सौंप दी है। इस बारे में बात करते हुए राज्‍य के अतिरिक्‍त गृह सचिव केपी बक्षी ने कहा कि इस मामले में अलग-अलग एंगल हैं और प्रॉपर्टी के मामले में हत्‍या से इंकार नहीं किया जा सकता।

गौरतलब है कि इस हाई प्रोफाइल हत्‍याकांड में इंद्राणी मुखर्जी के अलावा उसके पूर्व पति संजीव खन्‍ना और ड्रायवर को आरोपी बनाया गया है। उतार-चढ़ाव और रहस्‍यों से भरे इस हत्‍याकांड में तब बड़ा बदलाव आया था जब राज्‍य सरकार ने पूरे मामले की जांच में लगे पुलिस कमिश्‍नर राकेश मारिया का प्रमोशन कर उनकी जगह अहमद जावेद को नया पुलिस कमिश्‍नर बना दिया था। यह भी पढ़े-शीना बोरा केस: इंस्पेक्टर का दावा, SP ने नहीं दर्ज करने दी FIR

यह हत्याकांड मीडिया ताइकून पीटर मुखर्जी और उनकी पत्नी इंद्राणी मुखर्जी से जुड़ा हुआ है। इस मामले में इंद्राणी मुखर्जी, उनके पूर्व पति संजीव खन्ना और उनका एक ड्राइवर आरोपी है। पुलिस इन सभी से पूछताछ कर रही है और सभी फिलहाल न्यायिक हिरासत में हैं।

पुलिस महकमा इस बात की भी जांच कर रहा है कि आखिर क्यों नहीं तब इस मामले की जांच की गई और हत्या का खुलासा किया गया। इस मामले में जांच रिपोर्ट तैयार कर डीजीपी संजीव दयाल को सौंप दी गई थी। यह भी पढ़े-शीना बोरा हत्याकांड: जानिए किसने दी मुंबई पुलिस को हत्या की जानकारी

शीना की हत्‍या 24 अप्रैल 2012 को हुई थी जबकि उसकी लाश मई 2012 को पुलिस ने रायगढ़ के जंगल से बरामद की थी उसके बाद पिछले दिनों जांच में इस पूरे हत्‍याकांड का खुलासा हुआ था। हालांकि, अब तक इस हत्‍या के पीछे कारणों की खुलासा नहीं हो पाया है। वहीं हाल ही में नए कमिश्‍नर अहमद जावेद ने बड़ा खुलासा करते हुए बताया कि वो पीटर मुखर्जी और इंद्राणी मुखर्जी को जानते हैं।