भायखला महिला जेल के अधिकारियों ने यहां एक महानगरीय मजिस्ट्रेटी अदालत को सूचित किया कि सनसनीखेज शीना बोरा हत्या मामले में मुख्य आरोपी इंद्राणी मुखर्जी संदिग्ध डेंगू से जूझ रही हैं। वही खबर है कि इंद्राणी को जे.जे अस्पताल में दोबारा लाया गया है।

एक जेल अधिकारी ने कहा कि हमने अदालत को बताया कि मुखर्जी संदिग्ध डेंगू का सामना कर रही है और उसका प्लेटलेट स्तर गिरकर 65,000 पर चला गया। उन्होंने बाद में बताया कि जेल में जे जे अस्पताल के डॉक्टर उनके इलाज में लगे थे। यह भी पढ़े-शीना बोरा हत्याकांड: इंद्राणी की हालत अब भी नाजुक

बता दे कि मजिस्ट्रेट आर वी अदोने को जेल अधिकारी की रिपोर्ट सौंपी गयी। सीबीआई की ओर से आवाज के नमूने की मांग के लिए याचिका के मद्देनजर अदालत ने कल जेल अधिकारियों को उन्हें पेश करने का निर्देश दिया था। केंद्रीय जांच एजेंसी ने कल अदालत से कहा था कि उनके पास कुछ कॉल रिकार्ड हैं जिसमें कथित तौर पर उनकी आवाज है और इसलिए वह इसे प्रमाणित करने के लिए उनकी आवाज का नमूना चाहती है। यह भी पढ़े-शीना बोरा पर आधारित बांग्ला फिल्म में होंगी महिमा चौधरी

गौरतलब है कि स्थानीय अदालत ने 19 अक्तूबर को मुखर्जी, उनके पूर्व पति संजीव खन्ना तथा उनके ड्राइवर श्यामवर राय की हिरासत 31 अक्तूबर तक बढ़ा दी थी। उनकी गिरफ्तारी और लंबी पूछताछ के बाद सात सितंबर को अदालत ने इंद्राणी और राय को 21 सितंबर तक न्यायिक हिरासत में भेजा था जिसे बाद में बढ़ाकर पांच अक्तूबर और फिर 19 अक्तूबर तक कर दिया गया। यह भी पढ़े-शीना बोरा हत्याकांड में मुंबई पुलिस को लगा तगड़ा झटका, महाराष्‍ट्र सरकार ने जांच सीबीआई को सौंपी

एक दिन बाद आठ सितंबर को खन्ना को भी न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। इंद्राणी, खन्ना और राय को अप्रैल 2012 में 24 वर्षीय शीना की हत्या और उसकी लाश को रायगढ़ जंगल में ठिकाना लगाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। पुलिस ने रायगढ जंगल से लाश को बरामद कर लिया था।