बेंगलूरूः पंजाब नैशनल बैंक में हाजरों करोड़ों रुपए के घोटाले को लेकर कांग्रेस का प्रधानमंत्री पर हमला जारी है. कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने चुनावी राज्य कर्नाटक में कहा कि बैंक फर्जीवाड़ा बड़ा क्यों होता जा रहा है? 14 फरवरी 2018 को जब पीएनबी ने नेशनल स्टॉक एक्सचेंज को सूचित किया था तो उसने 177.169 करोड़ डॉलर के फर्जीवाड़े की बात कही थी. उन्होंने कहा कि पीएनबी ने फिर दूसरी सूचना में कहा कि उसके साथ हुए फर्जीवाड़े में 20.425 करोड़ डॉलर की राशि और बढ़ गई है. सुरजेवाला ने कहा कि इसका मतलब है कि पंजाब नेशनल बैंक के दस्तावेजों के अनुसार घोटाला दो अरब डॉलर (12,717 करोड़ रुपये) का है. उन्होंने मोदी पर उनके ही शब्दों में हमला बोला और कहा कि पीएनबी घोटाले पर प्रधानमंत्री को अपनी चुप्पी तोड़नी चाहिए और उन्हें ‘मौन मोदी से बोल मोदी’ बनना चाहिए. पार्टी ने कहा कि ‘बैंक फर्जीवाड़ा’ बड़ा होता जा रहा है और प्रधानमंत्री चुप हैं.

सुरजेवाला ने पीएनबी द्वारा की गई शिकायतों की कॉपी जारी करते हुए कहा कि कौन जिम्मेदार है? जनता के पैसे की लूट के लिए कौन जिम्मेदार है? हम प्रधानमंत्री से हाथ जोड़कर आग्रह करते हैं…सम्माननीय प्रधानमंत्री आप मौन मोदी से बोल मोदी कब बनेंगे.’ हिमाचल प्रदेश में वर्ष 2012 में एक चुनावी रैली में गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री मोदी ने तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर हमला बोलते हुए कहा था कि वह ‘मौन मोहन सिंह हैं’ जिन्हें गरीब लोगों की दुर्दशा और महंगाई को लेकर कोई चिंता नहीं है.

10 दिन में 31,691 करोड़ का घोटाला
सुरजेवाला ने उल्लेख किया कि मोदी अपनी हालिया कर्नाटक यात्राओं के दौरान अन्य चीजों के साथ ही भ्रष्टाचार के मुद्दे पर भी बोले थे. उन्होंने कहा कि सत्ता में आने के 46 महीने बाद ‘यदि भारत में किसी व्यक्ति को भ्रष्टाचार पर जवाब देना है तो यह मोदी और उनकी पार्टी बीजेपी है.’ सुरजेवाला ने कहा कि हम देश के लोगों की तरफ से प्रधानमंत्री से मौन व्रत तोड़ने, अपनी चुप्पी तोड़ने और देश के लोगों के सवालों के जवाब देने की बात कहना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि मोदी की चुप्पी से भ्रष्टाचार पर उनके रुख का खुद ही खुलासा हो गया है. यह दावा करते हुए कि पिछले 10 दिन में 31,691 करोड़ रुपये के घोटालों का खुलासा हुआ है, सुरजेवाला ने रोटोमैक मामले का भी उल्लेख किया.