नई दिल्ली: कोरोना महामारी से जूझ रहा केरल राज्य एक अन्य बिमारी से भी जूझने लगा है. जीं हां, केरल में शिगेल संक्रमण फैल रही है. इस महामारी के कारण कोझिकोड़ में 11 वर्षीय बच्चे की मौत हो हई. बता दें कि यह महामारी आंत के संक्रमण से संबंधित हैं. इस संक्रमण के सामने आने के बाद लोगों में दहशत का माहौल बना हुआ है. बता दें कि शिगेला संक्रमण से कई लोग संक्रमित हो चुके हैं. हालांकि इस बाबत राज्य सरकार के स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि इस संक्रमण से घबराने की आवश्यकता नहीं है. Also Read - Vaccination Suspended in Maharashtra: महाराष्ट्र में भी रोका गया कोविड-19 वैक्सीनेशन प्रोग्राम, जानें अब वैक्सीन लगेगी या नहीं..?

बता दें कि स्वास्थ्य विभाग के विशेषज्ञ इस संक्रमण के स्त्रोत का पता लगाने में जुटु हुए हैं. केरल में शिगेला से अबतक 6 लोग संक्रमित हो चुके हैं, वहीं 26 अन्य संदिग्ध मामले भी हैं. स्वास्थ्य मंत्री केके शैलजा ने कहा कि हमारे विशेषज्ञों द्वारा घर-घर जाकर निरीक्षण किया जा रहा है. विशेषज्ञों की माने तो यह संक्रमण भोजन-पानी दोनों से फैल सकता है. इस संक्रमण को अपने आस-पास साफ सफाई ऱखकर रोका जा सकते हैं. स्वास्थ्य मंत्री ने इस दौरान कहा कि केवल उबले हुए पानी का ही सेवन करें. Also Read - Corona Vaccination in India, Day 1: सफल रहा टीकाकरण अभियान का पहला दिन, 1,91,181 लोगों को लगाया गया टीका

जिला चिकित्सा अधिकारी वी जयश्री ने बताया कि जिले में चिकित्सा शिविरों का आयोजन किया जा रहा है. इन शिविरों में बीते 2 दिनों में 150 लोग शामिल हो चुके हैं. विशेषज्ञ फिलहाल इस बात का पता लगाने में जुटे हुए हैं कि आखिर इस संक्रमण का स्त्रोत क्या है और यह कैसे फैला. स्थानीय लोगों का कहना है कि उनके कुछ पीने के पानी के स्त्रोत दूषित हो गए हैं, हो सकता है इस कारण यह संक्रमण पैदा हुआ हो. Also Read - विश्व का सबसे टीकाकरण अभियान भारतीय वैज्ञानिकों और आत्मनिर्भर भारत की क्षमता को दर्शाता है: अमित शाह