लखनऊ: शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे 16 जून को अपनी पार्टी के नवनिर्वाचित 18 लोकसभा सांसदों के साथ अयोध्या में रामलला के दर्शन करेंगे. शिवसेना के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष अनिल सिंह ने शुक्रवार को बताया कि नवनिर्वाचित शिवसेना सांसद 15 जून को अयोध्या पहुंच रहे हैं, जबकि पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे के 16 जून को अयोध्या पहुंचने की उम्मीद है.Also Read - यह सरकार जनता के जनादेश की है, जो 2.5 साल पहले किन्हीं कारणों से नहीं बन पाई थी: सीएम एकनाथ शिंदे

Also Read - Maharashtra Govt Trust Vote: महाराष्ट्र की एकनाथ सरकार ने पास की फ्लोर टेस्ट की 'अग्निपरीक्षा', जीता विश्वास मत | UPDATE

हाई अलर्ट: अयोध्या में हमले की आशंका, घटना के लिए नेपाल के रास्ते यूपी पहुंच सकते हैं आतंकी Also Read - मुंबई की कोर्ट ने शिवसेना नेता संजय राउत के खिलाफ जारी किया जमानती वारंट

उन्होंने बताया कि सांसदों सहित ठाकरे भगवान राम की पूजा-अर्चना करेंगे. प्रशासन से इस संबंध में अनुमति मिल गयी है. अयोध्या जाने का मकसद क्या है, इस सवाल पर सिंह ने कहा कि लोकसभा चुनाव से पहले उद्धव ठाकरे कई धार्मिक स्थानों पर दर्शन के लिए गये. अब चुनाव में पार्टी के अच्छे प्रदर्शन के बाद वह अयोध्या जाकर पूजा-अर्चना करेंगे. उन्होंने कहा कि ठाकरे की अयोध्या यात्रा लोकसभा चुनाव में पार्टी के शानदार प्रदर्शन के बाद भगवान राम का धन्यवाद करने के लिए हो रही है. इस यात्रा के जरिए अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण के लिए प्रतिबद्धता को और मजबूती मिलेगी .

राम मंदिर निर्माण की बाधाओं को दूर करने का ‘आखिरी प्रयास’ है धर्मसभा: विहिप

पिछले साल नवंबर में अयोध्या गए थे उद्धव

पिछले सात महीने में यह ठाकरे की दूसरी अयोध्या यात्रा है. इससे पहले वह पिछले साल नवंबर में अयोध्या गये थे. ठाकरे की अयोध्या यात्रा से पहले पार्टी नेता संजय राउत उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात कर चुके हैं. राउत ने योगी को ठाकरे की अयोध्या यात्रा के बारे में अवगत कराया था.