नई दिल्लीः महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर राजनीतिक पार्टियों में गतविधियां तेज हो गई हैं. अब केंद्र सरकार में शामिल शिवसेना के इकलौते मंत्री अरविंद सावंत केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया है. सावंत ने भाजपा पर वादा तोड़ने का आरोप लगाया है. सावंत के इस फैसले से भाजपा और शिवसेना के बीच तकरार और बढ़ सकती है. शिवसेना नेता ने अपने इस्तीफे की घोषणा ट्वीटर के माध्यम से की.

अरविंद सावंत ने भाजपा पर आरोप लगाते हुए लिखा कि लोकसभा चुनाव से पहले विधानसभा के चुनाव में सीटों के बंटवारे और सत्ता के फार्मूले पर बात हुई थी तब भाजपा उस पर राजी हो गई थी लेकिन अब इस फॉर्मूले को झूठा बता कर शिवसेना पर आरोप लगाए जा रहे हैं. सावंत ने कहा कि शिवसेना एक सच्ची पार्टी है और अगर इस तरह के झठे आरोप लगाए जाते हैं तो ऐसे वातारण में दिल्ली में नहीं रहा जा सकता. उन्होंने कहा कि मैं 11 बजे इस्तीफे की औपचारिक तौर पर घोषणा भी कर दूंगा.

इससे पहले मुंबई में शिवसेना चीफ उद्धव ठाकरे के घर ‘मातोश्री’ पर देर रात तक बैठक चलती रही . बैठक में शिवसेना द्वारा सरकार स्थापना की संभवानाओं पर चर्चा की गई. उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में तीन घंटे तक चली बैठक में एकनाथ शिंदे, अनिल देसाई, मिलिंद नार्वेकर, आदित्य ठाकरे मौजूद रहे. मीटिंग के बाद सभी नेता मीडिया से बात करने से बचते नजर आए. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार माना जा रहा है कि शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री बन सकते हैं.