नई दिल्ली। एयर इंडिया कर्मचारी से मारपीट के आरोपी शिवसेना सांसद रविंद्र गायकवाड़ के लोकसभा में दिए बयान के बाद सदन में हंगामा शुरू हो गया। बात मंत्री के साथ धक्कामुक्की तक पहुंच गई. सूत्रों के मुताबिक, गायकवाड़ के बयान के बाद शिवसेना सांसदों ने विमानन मंत्री ए. गजपति राजू को घेर लिया. इससे सदन में आपाधापी की स्थिति पैदा हो गई. इस दौरान अनंत गीते और गजपति राजू में तीखी बहस भी हुई.Also Read - मराठी भाषा को शास्त्रीय भाषाओं की श्रेणी में शामिल करने का प्रस्ताव विचाराधीन: केंद्र सरकार

हंगामा बढ़ता देख गृहमंत्री राजनाथ सिंह और एस एस अहलूवालिया ने बीच-बचाव किया और किसी तरह मामले को संभाला. फिर स्पीकर सुमित्रा महाजन ने मामले में दखल देते हुए बैठक बुलाई. बैठक में राजनाथ सिंह, गणपति राजू और शिवसेना सांसद शामिल हुए. सूत्रों के मुताबिक इस हंगामे के बीच शिवसेना सांसदों ने धमकी भी दी कि मुंबई से किसी भी एयरलाइन को उड़ान नहीं भरने देंगे. Also Read - Parliament Monsoon Session: मॉनसून सत्र के दूसरे दिन भी सदन में जबरदस्त हंगामा, लोकसभा की कार्यवाही हुई स्थगित

इससे पहले ‘चप्पलमार’ सांसद रविंद्र गायकवाड़ आज लोकसभा पहुंचे और मारपीच कांड पर सफाई पेश की. लोकसभा में गायकवाड़ ने कहा कि मैंने कोई अपराध नहीं किया है. मेरे साथ बुरा बर्ताव हुआ है इसलिए एयर इंडिया को माफी मांगनी चाहिए. जवाब में नागरिक उड्डयन मंत्री ए गजपति राजू ने भी बयान देते हुए कहा कि जहाज में सुरक्षा पर समझौता नहीं किया जा सकता. इसी को लेकर शिवसेना सांसदों ने हंगामा और नारेबाजी की. Also Read - पशुपति पारस ही होंगे लोकसभा में लोजपा के नेता, दिल्ली हाई कोर्ट ने खारिज की चिराग पासवान की अर्जी

क्या-क्या कहा गायकवाड़ ने?

गायकवाड़ ने कहा कि एक जनप्रतिनिधि के साथ बुरा बर्ताव हुआ. एयर इंडिया कर्मचारियों ने मेरे साथ दुर्व्यहार किया. बिना जांच मेरा मीडिया ट्रायल हुआ. मैंने क्या गुनाह किया है? मेरा क्या अपराध है कि बिना जांच के ही मेरा ट्रायल हो रहा है. संसद में सत्य की विजय हो. सीट के लिए झगड़े की बात गलत. कर्मचारी ने कहा कि मैं एयर इंडिया का बाप हूं. इस पर मैंने उसे धक्का दिया. मेरे संवैधानिक अधिकारों का उल्लंघन हुआ है. संसद की गरिमा को ठेस पहुंची है तो मैं संसद से माफी मांगता हूं, लेकिन कर्मचारी से नहीं. मैं पूछना चाहता हूं कि मुझ पर गंभीर धारा में एफआईआर क्यों दर्ज हुई है?

उड्डयन मंत्री का जवाब

वहीं गायकवाड़ के बयान के जवाब में नागरिक उड्डयन मंत्री ए. गणपति राजू ने कहा कि ‘हवाई जहाज में सुरक्षा जरूरी है जहाज में जो भी चढ़ता है वो पैसेंजर होता है ना कि सांसद’. मंत्री के इस बयान पर शिवसेना ने सदन में हंगामा और नारेबाजी की। केंद्रीय विमानन मंत्री अशोक गजपति राजू ने कहा कि कानून अपना काम कर रहा है और विमानों में सुरक्षा महत्वपूर्ण मुद्दा जिससे कोई समझौता नहीं किया जा सकता। उनके बयान को सुनकर शिवसेना सांसदों ने हंगामा शुरू कर दिया और लोकसभा की कार्यवाही कुछ देर के लिए स्थगित करनी पड़ गई।