Shiv Sena statement against Pakistani and Bangladeshi Muslims विधानसभा चुनाव के बाद विरोधी पार्टियों के साथ मिलकर सरकार बनाने वाली शिवसेना एक बार फिर से हिंदुत्व की भावना को दिखाने की कोशिश कर रही है. अभी बॉला साहेब ठाकरे की जयंति के अवसर पर उन्होंने कहा था कि मेरी राजनीतिक सहयोगी पार्टियां बदली है लेकिन मेंरी अंतर्आत्मा भगवा ही है. अब शिवसेना ने एक बार फिर से अपने मुखपत्र सामना के माध्यम से बांग्लादेशी और पाकिस्तानी मुसलमानों के खिलाफ बड़ा बयान दिया है.Also Read - महाराष्ट्र में ऑक्सीजन की कमी से कोरोना के किसी मरीज की मौत नहीं हुई: स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे

सामना में शिव सेना ने लिखा कि बांग्लादेश और पाकिस्तान से आए हुए मुसलमानों को भारत से निकाल फेकना चाहिए इसमें किसी भी प्रकार की दो राय नहीं है. शिवसेना ने सामना के माध्यम से एमएनएस नेता राज ठाकरे पर भी हमला किया. एक दिन पहले राज ठाकरे ने उद्धव ठाकरे के हिंदुत्व की भावना पर सवाल खड़े किए थे. Also Read - Rain Alert: पश्चिमी तट पर अगले दो-तीन दिनों में अत्यधिक भारी बारिश की संभावना, महाराष्ट्र में राहत नहीं

Also Read - महाबलेश्वर में भारी बारिश से रत्नागिरि, रायगढ़ में तबाही मची, 50 से ज्‍यादा मौतों की खबर, बढ़ सकती है मृतक संख्‍या

शिवसेना ने लिखा कि किसी पाकिस्तानी और बांग्लादेशी मुसलमानों को देश से बाहर करने के लिए किसी पार्टी को अपना झंडा बदलना पड़े यह काफी रोचक है. सामना में यह भी कहा गया कि दो झंडे की योजना किसी पार्टी की फिसलती हुई गाड़ी के लक्षण हैं. सामना ने तंज कसते हुए लिखा कि राज ठाकरे ने 14 साल पहले पार्टी का गठन मराठा मुद्दे के लिए किया था लेकिन अब उनकी पार्टी हिंदुत्व की तरफ जाते हुए दिखाई दे रही है.

शिवसेना ने अपने मुखपत्र में मुसलमानों के खिलाफ ऐसे मसय में बयान दिया है जब दूसरी विपक्षी पार्टियां सीएए, एनआरसी का लगातार विरोध कर रही है. अब यह देखना होगा कि उसके इस बयान का खुद की सहयोगी पार्टियां कितना सपोर्ट करती हैं.