शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ के माध्यम से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर करारा सवाल दागा है। शिवसेना अपने मुखपत्र सामना के जरिये सरकार से सवाल किया है कि “आखिर कब पाकिस्तान के खिलाफ सेना का इस्तेमाल होगा? क्या इसी तरह धमकियों का दौर चलता रहेगा?”

‘सामना’ के संपादकीय लेख में कहा गया है कि “भारत और पाकिस्तान के बीच पिछले 60-65 सालों से जुबानी जंग चल रही है। हमारी सेना के जवानों की जानें जा रही है, लेकिन पाकिस्तान को सबक आखिर कब सिखाया जाएगा?” यह भी पढ़ें: क्या है सर्जिकल सट्राइक और कैसे इसको अंजाम दिया जाता है, समझे इस खबर में

इतना ही नहीं लेख में कहा गया है कि नए थलसेना अध्यक्ष विपिन रावत की तारीफ करते हुए कहा गया है कि, उन्होंने आते ही पाकिस्तान को धमकाया है, लेकिन हमारे नेताओं में शायद वो इच्छा शक्ति नहीं है कि पाकिस्तान को सबक सिखाया जाए।

‘सामना’ के लेख के अनुसार, पिछले ढाई सालों में कश्मीर घाटी में सबसे ज्यादा जवानों की मौत हुई है। लेकिन इतनी बड़ी सेना होने के बावजूद हम सिर्फ अपने जवानों की लाशें गिन रहे हैं। आगे शिवसेना ने अपने मुखपत्र में कहा है कि, पाकिस्तान ने पठानकोट से उरी तक कहकर हमले किए, लेकिन हम किस उचित मुहुर्त का इंतजा कर रहे हैं?