Shivajirao Patil Nilangekar passed away: महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री शिवाजीराव पाटिल निलांगेकर का बीमारी के कारण बुधवार को यहां निधन हो गया. वह 89 वर्ष के थे. उनके परिवार के सूत्रों ने बताया कि निलांगेकर का यहां एक निजी अस्पताल में निधन हो गया. वह हाल ही में कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे, लेकिन वह बाद में स्वस्थ हो गए थे और जांच में संक्रमित न पाए जाने के बाद उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी. Also Read - MP By-election: कांग्रेस ने बनाई रणनीति, मध्य प्रदेश में ज्योतिरादित्य सिंधिया को घेरने की तैयारी

पाटिल का पुणे के एक निजी अस्पताल में इलाज चल रहा था. उनका चार दिन पहले कोरोना वायरस का रिपोर्ट निगेटिव आया था. परिवार के करीबी सूत्रों ने बताया कि उनका निधन किडनी से जुड़ी जटिलताओं के कारण हुआ. उनका अंतिम संस्कार आज निलंगा में किया जाएगा. बताया जा रहा है कि कोरोना वायरस का पता लगने के बाद कांग्रेस नेता लातूर जिले के नीलगन्ना में अपने गृह नगर पुणे से चले गए थे. Also Read - कृषि विधेयकों पर संग्राम: कांग्रेस ने कहा किसानों के लिए ‘डेथ वारंट’, भाजपा ने लगाया गुमराह करने का आरोप

बता दें कि मराठावाड़ा क्षेत्र के लातुर से वरिष्ठ कांग्रेस नेता निलांगेकर जून 1985 से मार्च 1986 तक राज्य के मुख्यमंत्री रहे. निलांगेकर ने अपनी बेटी और उसकी दोस्त ‘‘की मदद के लिए’’ 1985 में एमडी परीक्षा के नतीजों में छेड़छाड़ के आरोप लगने के कारण मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था. Also Read - MP विधानसभा उपचुनाव: सिंधिया के गढ़ गरजेंगे सचिन पायलट, कांग्रेस के लिए करेंगे चुनाव प्रचार