पिछले दिनों भोपाल सेंट्रल जेल से भागे सिमी आतंकवादियों का सामना करते हुए शहीद हुए रमाशंकर यादव की बेटी की शादी में पहुंचकर खुद सूबे के मुखिया शिवराज सिंह पिता की भूमिका में रहे। शिवराज काफी समय तक वैवाहिक प्रक्रिया में शामिल रहे और गेट पर खड़े होकर बारातियों का स्वागत कर एक पिता फर्ज भी निभाया।


शिवराज सिंह ने इस अवसर पर रमाशंकर की बेटी सोनिया को मंत्रालय में सहायक ग्रेड-3 का नियुक्ति पत्र सौंपा और सुखी जीवन के लिए वर-वधू को आशीर्वाद दिया।


गौरतलब है कि आतंकियों द्वारा जेल तोड़कर भागने के दौरान मुठभेड़ में मारे गए जेल गार्ड रमाशंकर की मौत के बाद शिवराज ने कहा था कि उनकी बेटी मध्यप्रदेश की बेटी है और उसकी शादी में किसी तरह की कोई कमी नहीं होने दी जाएगी। इसके अलावा शादी से पहले ही उन्होंने लैंडमार्क मैरिज हॉल पहुंचकर सभी तैयारियों का जायजा भी लिया था। यह भी पढ़ें: चॉपर विमान घोटाले में दोषी पाए गए पूर्वी एयरचीफ मार्शल एस. पी. त्यागी गिरफ्तार

शुक्रवार रात सोनिया और सुनील शादी के बंधन में बंध गए। सोनिया के पिता उत्तर प्रदेश के बलिया के रहने वाले थे। वह मध्य प्रदेश कारागार में हेड कांस्टेबल के पद पर नियुक्त थे। उनके दो बेटे हैं जो पंजाब और असम में तैनात हैं। सीएम ने उनके पिता को शहीद का दर्जा देने के साथ ही एक मोहल्ले का नाम भी रमाशंकर के नाम पर करने की घोषणा की है।