नई दिल्ली/भोपाल. मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को कहा कि बुधवार को बेरहमपुर में उनकी रैली है. लेकिन पश्चिम बंगाल की ममता सरकार उनके चॉपर को उतरने की अनुमति नहीं दे रही है. उन्होंने कहा कि संविधान में ये अधिकार दिया गया है कि हर राजनैतिक पार्टी जनता के सामने अपना पक्ष रख सकती है. लेकिन ममता जी किससे डर रही हैं? Also Read - MP Sidhi Road Accident: मध्यप्रदेश के सीधी में दर्दनाक हादसा, 38 लोगों की मौत, 18 अबतक लापता

बता दें कि इससे पहले यूपी सीएम आदित्यनाथ को भी रैली में जाने के लिए हेलीकॉप्टर उतारने की अनुमति नहीं दी गई थी. इसके बाद सीएम योगी झारखंड के बोकारो में हेलीकॉप्टर से उतरेंगे और वहां से पुरलिया सड़क के माध्यस से जाएंगे. पुरलिया में योगी रैली को संबोधित करेंगे. बोकारो से पुरलिया की दूरी लगभग 53 किलोमीटर है. इससे पहले पश्चिम बंगाल बीजेपी ने बांकुरा में मंगलवार को निर्धारित उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की जनसभा सोमवार को यह दावा करते हुए रद्द कर दिया कि जिला प्रशासन उनके हेलीकॉप्टर को उतरने के लिए अनुमति देने में टाल-मटोल कर रहा है.

बीजेपी अध्यक्ष ने ये कहा
दूसरी तरफ पश्चिम बंगाल बीजेपी अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि मंगलवार की आदित्यनाथ की पुरुलिया रैली फिलहाल निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार ही होगी. तृणमूल कांग्रेस और भाजपा के बीच रविवार को संघर्ष तब और तेज हो गया जब पश्चिम बंगाल सरकार ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के हेलीकॉप्टर को उतरने और उत्तरी बंगाल में दो जनसभाएं करने की अनुमति नहीं दी.

धरने पर हैं ममता
बता दें कि पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी रविवार की रात से धरने पर बैठी हैं. उनका यह धरना सीबीआई और केंद्र सरकार के खिलाफ है. उनका कहना है कि सीबीआई ने जबरदस्ती कोलकाता के कमिश्नर को गिरफ्तार करने की कोशिश की है. उन्होंने कहा कि सीबीआई असंवैधानिक काम कर रही है.