Also Read - MP Assembly By Elections: उमा भारती की मध्‍य प्रदेश की राजनीति में वापसी की तैयारी

भोपाल, 17 दिसंबर | मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पाकिस्तान के पेशावर में आतंकवादियों द्वारा बच्चों की हत्या पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए इसे मानवता के प्रति सबसे बड़ा अपराध बताया है। वे बुधवार को राजधानी भोपाल के सुभाष उत्कृष्ट स्कूल में आयोजित श्रद्धांजलि सभा में बोल रहे थे। चौहान ने कहा कि कोई भी धर्म या पंथ ऐसे कृत्य की स्वीकृति नहीं देता। बच्चे किसी देश या धर्म के नहीं पूरी दुनिया के होते हैं। बच्चों को देश या धर्म की सीमाओं में नहीं बांधा जा सकता। बच्चों के साथ ऐसा क्रूर कृत्य करने वालों की जितनी निंदा की जाए कम है। Also Read - मध्य प्रदेश: बाढ़ पीड़ितों के बीच नाव से पहुंचे सीएम शिवराज, परेशानी सुनी, खाना बांटा

उन्होंने कहा कि संकट की इस घड़ी में पूरा देश उनके परिजन के साथ है। ईश्वर से प्रार्थना करते हैं कि मृतकों को शांति मिले और उनके परिजन को दु:ख सहन करने की शक्ति मिले। सभा में दो मिनिट का मौन रखकर मृत बच्चों को श्रद्धांजलि दी गई। वहीं राजभवन में श्रद्वांजलि सभा हुई। इस मौके पर राज्यपाल राम नरेश यादव ने पाकिस्तान के पेशावर सैनिक स्कूल में आतंकी हमले की कड़े शब्दों में निन्दा और भर्त्सना करते हुए इसे कायरतापूर्ण कृत्य बताया है। राज्यपाल ने कहा कि आतंकवाद का कोई मजहब और देश नहीं होता है। आतंकवाद के खिलाफ हमारा देश पड़ोसी देशों के साथ है। Also Read - मध्य प्रदेश में बाढ़ से हालात खराब, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने 5 जिलों का हवाई सर्वेक्षण किया

राजभवन में श्रद्धांजलि सभा में राज्यपाल यादव तथा राजभवन के अधिकारियों और कर्मचारियों ने आतंकी हमले में मृत बच्चों को दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि अर्पित की।