नई दिल्ली: ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) जिस दिन से कांग्रेस (Congress) छोड़कर बीजेपी (BJP) में शामिल हुए हैं, कांग्रेस लगातार बीजेपी और सिंधिया पर हमलावर नजर आ रही है. बीते गुरुवार को सिंधिया भोपाल (Bhopal) पहुंचे थे, जहां बीजेपी ने उनका जोरदार स्वागत किया, लेकिन सिंधिया के स्वागत समारोह में पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chauhan) कुछ ऐसा बोल गए कि कांग्रेस को एक बार फिर शिवराज सिंह के इस बयान को लेकर सिंधिया पर तंज कसने का मौका मिल गया है. Also Read - कांग्रेस ने सामूहिक पलायन पर सरकार से पूछे सवाल, कहा- गरीबों की जिंदगी मायने रखती है या नहीं

दरअसल, सिंधिया के स्वागत समारोह में शिवराज सिंह चौहान ने उनकी तुलना विभीषण से कर दी. पूर्व मुख्यमंत्री ने अपने भाषण में कहा कि ‘रावण की लंका जलाने के लिए विभीषण की जरूरत तो होती ही है. मेरे भाई सिंधिया जी अब हमारे साथ हैं, तो अब हम मिलकर लड़ेंगे और इनको धराशायी करेंगे.’ शिवराज के इस बयान के बाद अब कांग्रेस ने तंज कसा है और इसे सिंधिया का अपमान बताया है. Also Read - केजरीवाल ने लोगों को गीता पाठ करने की दी सलाह, कहा- गीता के 18 अध्याय की तरह लॉकडाउन के बचे हैं 18 दिन 

मुख्यमंत्री कमल नाथ (Kamal Nath) के मीडिया समन्वयक नरेंद सलूजा ने शिवराज सिंह के बयान को लेकर एक ट्वीट किया है, जिसमें उन्होंने सिंधिया पर कटाक्ष करते हुए लिखा है, “इससे बड़ा अपमान किसी का नहीं हो सकता. बीजेपी (BJP) में प्रवेश से पहले शिवराज गद्दार कहते थे और प्रवेश के बाद विभीषण.”

वहीं भाजपा में शामिल होने के बाद पहली बार गुरुवार को भोपाल पहुंचे सिंधिया ने कमलनाथ सरकार पर जोरदार हमला बोलते हुए मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार के जाने की बात कही है. ज्योतिरादित्य सिंधिया बीजेपी के प्रदेश दफ्तर में आयोजित समारोह में खुद को भाजपा के हवाले करने की बात करते हुए इशारों में कहा कि ‘कमल नाथ सरकार अब मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) से जाने वाली है.’