नई दिल्ली/भोपाल. यहां विधानसभा के पास गुरुवार को एक व्यक्ति द्वारा खुद को सीएम शिवराज सिंह चौहान का साला बताने और उसके बाद ट्रैफिक पुलिस से विवाद के मुद्दे पर सीएम ने शुक्रवार को बयान दिया है. शिवराज ने कहा, ऐसा है कि एमपी में मेरी करोड़ों बहने हैं और मैं बहुत से लोगों का साला हूं. कानून अपना काम करेगा. Also Read - MP Assembly By Elections: उमा भारती की मध्‍य प्रदेश की राजनीति में वापसी की तैयारी

बता दें कि गुरुवार को भोपाल में विधानसभा के नजदीक एक वाहन को ट्रैफिक पुलिस ने रोक दिया. इसके बाद वाहने से उतरे एक पुरुष और दो महिलाओं ने हंगामा शुरू कर दिया. पुरुष ने ट्रैफिक पुलिस पर बदतमिजी का आरोप लगाया और खुद को सीएम शिवराज सिंह चौहान का साला बताने लगा.

इतना ही नहीं कुछ देर के बाद उसके साथ एक मौजूद महिला किसी को फोन मिला दी और ट्रैफिक पुलिस के जवान से बात करने के लिए कहने लगी. महिला ट्रैफिक पुलिस के जवान से बार-बार कह रही थी, तुम्हें विश्वास नहीं है कि ये सीएम के साले हैं. लो बात करो. लो बात करो.

इस पूरी घटना के दौरान ट्रैफिक पुलिस के सिपाही अपने मोबाइल से रिकॉर्डिंग भी कर रहे थे. पुलिस से किसी की बहस होते देख और खुद को सीएम का साला बताते देख वहां दूसरे लोगों की भी भीड़ लग गई. कई लोगों ने इस पूरे मामले की रिकॉर्डिंग की. ये वीडियो सोशल साइट्स पर वायरल हो गया. इसके बाद सीएम से इस मामले में सवाल किया गया तो उन्होंने अपना पक्ष रखा.