कोलकाता: पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद में मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के हेलिकॉप्टर को उतरने की इजाजत नहीं दी गई, जिस वजह से भाजपा को राज्य के मुर्शिदाबाद जिले में चौहान की रैली को स्थगित करना पड़ा. भाजपा के उपाध्यक्ष चौहान को बुधवार को मुर्शिदाबाद जिले के बहरामपुर में और पश्चिमी मिदनापुर जिले के खड़गपुर मे रैली को संबोधित करना था. वहीं, उन्होंने खड़गपुर में एक रैली को संबोधित किया.

झारखंड के रास्ते ममता के ‘गढ़’ में घुसे CM योगी, बोले- बंगाल में BJP आई तो ‘दया’ मांगेंगे TMC के गुंडे

पूर्व सीएम चौहान ने कहा खड़गपुर की एक रैली में कहा, इन दिनों ममता जी सरकार चलाने के अलावा सबकुछ कर रहीं हैं. अमित शाह का हेलिकॉप्टर न उतर जाए, प्रधानमंत्री जी का हेलिकॉप्टर न उतर जाए, प्रधानमंत्री जी की सभा ना हो जाए, योगी जी की सभा न हो जाए, शिवराज का हेलिकॉप्टर ना उतर जाए.. इस चिंता में ममता दीदी दुबली हो रही हैं”

सीएम योगी के बाद शिवराज को भी लेकर सख्त ममता सरकार, हेलीकॉप्टर उतरने की नहीं दी अनुमति

चौहान ने कहा कि ममता जी, न केवल बंगाल बल्कि पूरा देश जानना चाहता है कि आप राजीव कुमार की रक्षा क्यों करना चाहते हैं. कौन मुसीबत में उतरा होगा उसने पूछताछ की थी? वह चिंता करने के लिए धरने पर बैठ जाती है, वह अपनी नींद खो देती हैं. हम जवाब चाहते हैं. क्या कोई आईपीएस अधिकारी कभी धरने पर बैठा है?

बता दें कि पश्चिम बंगाल का प्रशासन दो बार यूपी के मुख्यमंत्री सीएम योगी आदित्यनाथ के हेलिकॉप्टर को उतरने की अनुमति नहीं दी थी. मंगलवार को सीएम योगी झारखंड में उतरने के बाद वहां से सड़क मार्ग से होते हुए रैली को संबोधित करने पहुंचे थे. वहीं, इससे पहले उन्होंने एक जनसभा के लिए हेलिकॉप्टर नहीं उतरने के चलते फोन से ही सभा को संबोधित किया था.

पश्चिम बंगाल सरकार से नहीं मिली अनुमति, झारखंड में उतरेगा योगी का हेलिकॉप्टर, सड़क से जाएंगे रैली स्थल

भाजपा राज्य महासचिव सयानतन बसु ने कहा, “हमने आज (बुधवार) की रैली रद्द करने का फैसला किया है, क्योंकि हमें मुर्शिदाबाद के बहरामपुर में हेलीकॉप्टर उतारने की इजाजत नहीं दी गई. वह आज खड़गपुर में एक रैली को संबोधित करेंगे.” बसु ने कहा, “वह केवल खड़गपुर में रैली को संबोधित करेंगे, जहां वह कोलकाता हवाईअड्डे से सड़क मार्ग से जाएंगे.” उन्होंने कहा, “इससे पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और अन्य नेताओं के हेलीकॉप्टर को बंगाल में उतरने की इजाजत नहीं दी गई थी। यह हमारे लिए नया नहीं है। हम अपने तरीके से इससे लड़ेंगे.”