पीएम नरेंद्र मोदी की हर तरह से आलोचना करने वाली शिुवसेना का अब नया अवतार देखने मिल रहा है। अब से दो दिनों पहले ही कतर में दिए पीएम मोदी के भाषण की आलोचना करने वाली शिवसेना अब उनकी तारीफ कर रही है। आपको बतादें की शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना संपादकीय पेज पर ‘जोरदार मोदी’ नाम से प्रकाशित किया है। चलिए आपको बतातें है आखिर शिवसेना में चल पड़ी है मोदी लहर।Also Read - शिवसेना ने कहा- महाराष्ट्र में बीजेपी का अंत निकट, जानें इतना क्यों गुस्साई है उद्धव की पार्टी

Also Read - Assam-Mizoram Border Dispute: पीएम नरेंद्र मोदी आज असम के सांसदों से करेंगे मुलाकात, शांति स्थापित करने का है प्रयास

शिवसेना को पीएम मोदी का अमेरिकी कांग्रेस में दिया गया भाषण बहुत ही अच्छा लगा। आपको बतादें की शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में लिखा है की ‘हिंदुस्तान के लोग किस तरह हास्यास्पद उच्चारण करते हैं, उसमे लिखा है की इसकी नकल अमेरिका के राष्ट्राध्यक्ष पद के उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप कर रहे थे मगर उनके ही संसद में भारत के पीएम मोदी ने ‘भारतीय’ अंग्रेजी में भाषण दिया। पीएम मोदी के भाषण के हर एक वाक्य के बाद लोग तालियों की गड़गड़ाहट से उनकी प्रशंसा कर रहे थे। वहीं दूसरी तरफ खड़े होकर सीनेट सदस्य उनकी प्रशंसा कर रहे थे। यह जबरदस्त था।’ Also Read - PM Modi की आलोचना वाले पोस्टरों को बताया 'अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता', SC पहुंचा तो पड़ी फटकार

पीएम नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा की दोस्ती के बारे में शिवसेना का कहना है की वह दोनों बहुत अच्छे दोस्त बन गए हैं, वह इस बात से समझा जा सकता है की बराक ओबामा निवृत्ति के बाद अपनी पत्नी के साथ भारत के राज्यों मेसे एक में बसनेवाले हैं। यह भी पढ़ें: भारत-अमेरिका के गहराते रिश्ते से पाकिस्तान चिंतित

सामना में आगे लिखा हुआ है की अमेरिका एक तरफ भारत से अपनी दोस्ती को दिखाते हुए पाकिस्तान को आतंवाद ख़त्म करने की धमकी देता है मगर जब उसे ओसामा बिन लादेन और तालिबानी गुट प्रमुख मोलाह अख्तर मंसूर को मारना था तो उसने स्वयं पाकिस्तान में घुसकर हमला दिया था। आगे यह भी लिखा है की एक तरफ अमेरिका भारत को मुंबई पर हुए आतंकवादी हमले के लिए सहायता करेगा मगर दूसरी तरफ वही पाकिस्तान को F-16 जैसे लड़ाकू विमानो की आपूर्ति कर व्यापार करता है। सामना में इस दोहरापन को समझने की बात लिखी गई है।