मुंबई: महाराष्‍ट्र के पालघर सीट पर भाजपा के हाथों मिली हार के बाद शिवसेना सुप्रीमो उद्धव ठाकरे ने यहां दोबारा मतगणना की मांग की है. ठाकरे ने कहा कि इस सीट पर 20 से 25वें दौर की मतगणना में भारी गड़बड़ी की गई है. उन्‍होंने मांग की कि दोबारा काउंटिंग होने तक बीजेपी उम्‍मीदवार को विजयी घोषित नहीं किया जाए. Also Read - लॉकडाउन को फेल बताने पर राहुल गांधी पर बीजेपी का पलटवार: झूठ नहीं फैलाएं, दुनिया के आंकड़े देखें

उद्धव ने यह भी कहा कि पालघर में 60 फीसदी मतदाताओं ने बीजेपी के खिलाफ मत दिया है. बीजेपी अब सहयोगियों की परवाह नहीं करती, न ही उसे दोस्‍तों की जरूरत है.  ठाकरे ने कहा कि उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ अपने राज्‍य में जीत नहीं पा रहे, महाराष्‍ट्र में प्रचार करने आ जाते हैं. जनता ने उनकी मस्‍ती उतार दी. उन्‍हें योगी पर महाराष्‍ट्र के अपमान का आरोप भी लगाया.

चुनावों में भ्रष्‍टाचार के बढ़ते मामलों को देखते हुए उद्धव ने कहा कि चुनाव आयुक्‍तों के मनोनयन की प्रक्रिया अब बंद होनी चाहिए. उनके लिए भी चुनाव होना चाहिए.

उद्धव ने महाराष्‍ट्र की देवेंद्र फड़नवीस सरकार पर विधानसभा में समर्थन खोने का आरोप भी लगाया है. राज्‍य में बीजेपी और शिवसेना की गठबंधन सरकार है. पालघर का नतीजा आने के बाद ऐसी खबरें आ रही हैं कि शिवसेना सरकार से बाहर हो सकती है और बाहर से समर्थन दे सकती है.

बता दें कि महाराष्‍ट्र के दो लोकसभा क्षेत्रों पालघर और भंडारा-गोंदिया के लिए उपचुनाव 28 मई को हुआ था. 31 मई को आए नतीजों में पालघर सीट बीजेपी ने बरकरार रखी जबकि भंडारा-गोदिया पर एनसीपी उम्‍मीदवार आगे चल रहा है.