नई दिल्ली। दिल्ली के रामलीला मैदान में आज अन्ना हजारे के मंच की तरफ किसी शख्स ने चप्पल उछाल दी. ये घटना उस वक्त हुई जब महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस भाषण दे रहे थे. फडणवीस सात दिन से अनशन पर बैठे अन्ना हजारे का अनशन तुड़वाने पहुंचे थे. उनके साथ केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत भी थे. वीडियो में आप देख सकते हैं कि किस तरह अन्ना की सभा में आए किसी शख्स ने मंच की तरफ जूता फेंका.

अन्ना का अनशन खत्म होने के बाद फडणवीस मंच से भाषण दे रहे थे और अन्ना पास ही कुर्सी पर बैठे हुए थे. बाकी लोग भी मंच पर खड़े थे. भाषण के दौरान सामने से किसी ने मंच की तरफ जूता फेंक दिया. हालांकि ये जूता मंच तक नहीं पहुंच पाया और किसी और को जाकर लगा. फडणवीस अपना भाषण पूरा करते रहे. इस शख्स को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया.

अन्ना हजारे ने सरकार के आश्वासन के बाद तोड़ा अनशन, 7 दिनों से थे भूख हड़ताल पर

अन्ना ने तोड़ा अनशन

23 मार्च से भूख हड़ताल पर बैठे अन्ना हजारे ने आज अपना अनशन तोड़ दिया. आज अन्ना से मिलने से महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस और केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत पहुंचे थे. फडणवीस ने ही अन्ना को जूस पिलाकर अनशन तुड़वाया. इस दौरान अन्ना ने कहा कि मेरे तीन मुद्दे थे. सबसे प्रमुख मुद्दा था कि किसानों को लागत का डेढ़ गुना दाम मिलना चाहिए. सरकार इस बात पर राजी हो गई है. हमारी मांगें 6 महीने में मानी जाए, अगर हमारी मांग नहीं मानती तो हम फिर आंदोलन करेंगे.

हजारे ने कहा कि वह सरकार को आश्वासनों को पूरा करने के लिए अगस्त तक छह माह का वक्त दे रहे हैं साथ ही चेतावनी दी कि अगर उनकी मांगे पूरी नहीं की गईं तो सितंबर में उनका अनशन दोबारा शुरू होगा. अन्ना ने कहा कि उन्होंने( सरकार) हमें आश्वासन दिया है कि जितनी जल्दी हो सकेगा वे नियुक्तियां कर देंगे. मैं अगस्त तक देखूंगा और सितंबर में अनशन दोबारा शुरू करूंगा. यह निर्धारित समय में होना चाहिए. हालांकि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस ने कहा है कि इसमें छह माह भी नहीं लगेगा, हम देखते हैं.

उन्होंने कहा, सरकार और जनता अलग नहीं होती, सरकार का काम है जनता की भलाई, देश की भलाई, ऐसे आंदोलन की नौबत नहीं आनी चाहिए. इसबीच एक व्यक्ति ने शर्मनाक हरकत करते हुए स्टेज की ओर जूता फेंका. हालांकि यह स्पष्ट नहीं है कि व्यक्ति के निशाने पर कौन था. पुलिस ने इस व्यक्ति को पकड़ लिया.