नई दिल्लीः अमेरिका के हवाई द्वीप पर स्थित पर्ल हार्बर मिलिट्री बेस पर एक बंदूक धारी हमलावर ने अचानक गोलिया चलाने शुरू कर दी. इस घटना में दो लोग गंभीर रूप से घायल हो गए. इसके बाद हमलावर ने खुद को गोली मार ली. यह घटना जिस वक्त हुई उस समय भारतीय वायु सेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया भी पर्ल हार्बर मिलिट्री बेस पर मौजूद थे. फिलहाल इसमें सभी भारतीय सदस्य और वायुसेना प्रमुख सुरक्षित हैं.

नौसैन्य अड्डे की तरफ से जारी बयान में बताया गया कि यह गोलीबारी स्थानीय समयानुसार दोपहर ढाई बजे की गई जिसके बाद अड्डे को कुछ घंटों तक बंद रखना पड़ा. नौसेना अड्डे ने ट्वीट कर बताया कि हमलावर की पहचान अमेरिकी नाविक के रुप में हुई है. अधिकारियों ने कहा, “नाविक ने खुद को गोली मारने से पहले रक्षा मंत्रालय के तीन नागरिक सुरक्षा कर्मियों को गोली मार दी थी.” अधिकारियों के अनुसार नौसेना गोलीबारी के कारणों का पता लगाने वाली जांच का नेतृत्व कर रही है.

गोलीबारी की घटना जब हुई तो वायुसेना चीफ मिलिट्री बेस के निकट एक कांफ्रेंस में शिरकत कर रहे थे. इस संबंध में एक वायुसेना के अधिकारी ने न्‍यूज एजेंसी ANI से कहा, ”एयर चीफ समेत भारतीय वायुसेना डेलीगेशन के सभी सदस्‍य सुरक्षित हैं. पैसिफिक एयर चीफ सिम्‍पोजियम (PACS-2019) भी जारी रहा क्‍योंकि घटना पर्ल हार्बर के दूसरे हिस्‍से में घटित हुई.”


एक प्रत्यक्षदर्शी ने स्थानीय मीडिया को बताया कि वह अपने कंप्यूटर पर काम कर रहा था तभी उसने गोलियों की आवाज सुनी और देखा कि तीन लोग जमीन पर पड़े हैं. एक अन्य व्यक्ति ने बताया कि हमलावर ने नौसैनिक या नाविक जैसी पोशाक पहन रखी थी. उसने व्यक्ति ने हमलावर को खुद के सिर में गोली मारते भी देखा.