पटना: परीक्षा से पहले छात्रों को तनाव न लेने की प्रधानमंत्री की सलाह को लेकर भाजपा के असंतुष्ट सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने नरेंद्र मोदी पर आज ताजा हमला बोलते हुए कहा कि फेल होने वाले छात्र ‘‘हमारे चौकीदार ए वतन’’ की तरह पूर्ववर्ती सरकारों पर आरोप लगाकर तनावमुक्त हो सकते हैं. पटना साहिब से सांसद सिन्हा ने ट्वीट किया कि प्रिय श्रीमान बोर्ड परीक्षा की तैयारी कर रहे छात्रों को आपके दो घंटे के संबोधन में, जिसे सुनने को उन्हें विवश किया गया, आपने वही चीजें कहीं जो मैंने पूर्व में पटना में मगध महिला कॉलेज में कही थीं.

सिन्हा पिछले हफ्ते मोदी द्वारा देशभर के छात्रों से किए गए संवाद का हवाला दे रहे थे. मोदी ने अपने संवाद में छात्रों से परीक्षा के दौरान तनावमुक्त रहने को कहा था. मोदी ने इस थीम पर ‘एक्जाम वारियर्स’ नाम से एक किताब भी लिखी है जिसका इस महीने के शुरू में विमोचन किया गया था.

अपनी पार्टी और राजग सरकार के आलोचक रहे सिन्हा ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि प्रधानमंत्री यह कहकर मेरी बात से लगभग सहमत नजर आए कि छात्रों को सबसे पहली जो योग्यता हासिल करनी चाहिए, वह आत्मविश्वास है जिसका परिणाम प्रतिबद्धता, समर्पण, लगाव और जुनून के रूप में निकलेगा.

उन्होंने अपने ट्वीट में कहा कि फेल होने वाले छात्र पूर्ववर्ती सरकारों पर आरोप लगाकर तनावमुक्त हो सकते हैं, जैसा कि ‘‘हमारे चौकीदार ए वतन संसद में किसी भी समय करते हैं.’’ उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अक्सर खुद को देश का ‘‘चौकीदार’’ बताते रहे हैं.

सिन्‍हा इससे पहले भी नरेंद्र मोदी और उनकी सरकार के खिलाफ बोलते रहे हैं. हाल ही में पीएनबी घोटाला सामने आने के बाद उन्‍होंने कटाक्ष करते हुए ट्वीट किया था कि कई सरकारी समारोहों में सांसद होने के बावजूद मुझे प्रधानमंत्री के साथ मंच साझा करने से रोक दिया गया, लेकिन नीरव मोदी को बिना निमंत्रण के भी दावोस में प्रधानमंत्री के साथ तस्‍वीर खिंचवाने का मौका मिल गया. एक अन्‍य ट्वीट में व्‍यंग्‍य करते हुए उन्‍होंने लिखा था कि प्रधानमंत्री कहते हैं वे फकीर हैं, कभी भी झोला उठाकर चल देंगे. अब तक तीन मोदी- ललित, जतिन और नीरव, अपना झोला लेकर देश से जा चुके हैं. अब चौथे का झोला छिपा देना चाहिए.

 

इनपुट: एजेंसी