नई दिल्ली: गोवा के मुख्यमंत्री एवं पूर्व रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर का रविवार को अपने निजी आवास में निधन हो गया. वह 63 वर्ष के थे. पर्रिकर अपने पीछे दो बेटे हैं. गोवा के सीनियर प्रशासनिक अधिकारी के मुताबिक, मुख्यमंत्री का निधन रविवार शाम 6:40 बजे हुआ. पीएम मोदी ने श्रद्धांजलि देते हुए उन्हें आधुनिक गोवा का निर्माता बताया है. पीएम ने ट्विटर पर पर्रिकर के साथ एक फोटो शेयर करते हुए लिखा, ‘मनोहर पर्रिकर अद्वितीय नेता थे. एक सच्चे देशभक्त और असाधारण प्रशासक रहे पर्रिकर का हर कोई प्रशंसक था. देश के लिए उनके योगदान को पीढ़ियों तक याद रखा जाएगा. उनके निधन से बेहद दुखी हूं.’ अन्य ट्वीट में पीएम मोदी ने कहा, ‘मनोहर पर्रिकर आधुनिक गोवा के निर्माता थे. उनके मिलनसार व्यक्तित्व और हर किसी से मिलने के स्वभाव के चलते वह सालों से प्रदेश के सबसे बड़े नेता थे. जनहित की उनकी नीतियों ने गोवा की प्रगति को नई ऊंचाइयों पर ले जाने का काम किया.

मनोहर पर्रिकर: 25 साल का करियर, 4 बार CM, 1 बार बने रक्षामंत्री, ऐसा रहा राजनीति के ‘कॉमन मैन’ का सफर

गोवा के सीएम मनोहर पर्रिकर का निधन, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने जताया शोक

पिछले एक साल से बीमार चल रहे बीजेपी के वरिष्ठ नेता की सेहत पिछले दो दिन से काफी खराब हो गई. देश में साफ सुथरी और विकास और नए प्रयोगों की राजनीति करने वाले पर्रिकर को पार्टी, विपक्ष समेत कई दलों के नेताओं ने दुख व्‍यक्‍त करते हुए श्रद्धांजलि दी है.

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट किया है, ‘गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के निधन की सूचना पाकर शोकाकुल हूं.’ पर्रिकर बेहद साहस और सम्मान के साथ अपनी बीमारी से लड़े. सार्वजनिक जीवन में वह ईमानदारी और समर्पण के मिसाल हैं और गोवा और भारत की जनता के लिए उनके काम को कभी भुलाया नहीं जा सकेगा.

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा, मनोहर पर्रिकर का जाना बहुत पीड़ादायक है. देश ने आज एक सच्चा देशभक्त खो दिया जिसने निस्वार्थ भाव से अपना जीवन देश और विचारधारा को समर्पित कर दिया. पर्रिकर जी की अपने लोगों और कर्तव्यों के प्रति प्रतिबद्धता अनुकरणीय थी.

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने ट्विटर पर लिखा, नि:शब्द हूं. सुशील और सादगीपूर्ण राजनीति का चेहरा आज खो गया. मनोहर भाई सही मायने में हर कार्यकर्ता के हृदय पर राज करने वाले नेता थे. उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा,’राजनीति में शुरुआती दिनों से वे मेरे साथी और अच्छे मित्र थे. गोवा के विकास के लिए लिए आख़िरी साँस तक संघर्ष करने वाले भारत माँ के इस महान सपूत को मेरी भावभीनी श्रद्धांजलि.ॐ’

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा, गोआ के सीएम मनोहर पर्रिकर के निधन की खबर सुनकर गहरा दुख हुआ है. पिछले एक साल से उन्होंने एक तकलीफदेह बीमारी से बहादुरी के साथ मुकाबला किया. उनका सम्मान सभी पार्टियों में था. गोआ ने अपना प्रिय बेटा खो दिया.

एमपी पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा, ‘गोवा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर पर्रिकर के निधन का समाचार सुनकर स्तब्ध हूं. आज मां भारती ने अपना एक सच्चा सपूत खो दिया है. ईश्वर से दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान देने और परिजनों को यह वज्रपात सहन करने की शक्ति देने की प्रार्थना करता हूं.

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रचारक से देश के रक्षा मंत्री और गोवा के मुख्यमंत्री पद तक पहुंचे मनोहर पर्रिकर की उनके तटीय गृह राज्य गोवा में छवि एक सीधे सादे, सामान्य व्यक्ति की रही है. पर्रिकर ने चार बार गोवा के मुख्यमंत्री के रूप में काम किया और नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाले मंत्रिमंडल में रक्षा मंत्री के तौर पर तीन वर्ष सेवाएं दीं.

बीजेपी के सभी वर्गों के साथ ही विभिन्न पक्षों के बीच लोकप्रिय पर्रिकर ने लंबे समय तक कांग्रेस का गढ़ रहे गोवा में भाजपा का प्रभाव बढ़ाने में अहम भूमिका निभाई थी.