सेना के एक अधिकारी ने गुरुवार को कहा कि जम्मू एवं कश्मीर के सियाचिन ग्लैशियर में हिमस्खलन में बर्फ में दबे 10 सैनिकों के बचाव के लिए कार्रवाई जारी है। लेकिन, इनमें से किसी के भी बचने की संभावना बेहद कम है।Also Read - Indian Army ने चीन सीमा के पास पिनाक और समर्च रॉकेट लॉन्चर पहुंचाए; देखें जबरदस्त Video

सेना की उत्तरी उत्तरी कमान के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल एस.डी.गोस्वामी ने आईएएनएस से कहा, “सेना के विशेष दल और वायुसेना ने आज (गुरुवार को) दूसरे दिन भी बचाव अभियान जारी रखा। अभियान को और गति देने के लिए विशेष उपकरणों को विमान से लेह ले जाया गया है।” Also Read - भारतीय सेना की तवांग में चीनी टैंकों को नेस्तनाबूद करने की ट्रेनिंग; देखें Video

उन्होंने कहा कि माइनस 42 से माइनस 25 तक के तापमान वाले इस इलाके में बचाव दल प्रतिकूल मौसम और माहौल का सामना करते हुए सैनिकों की तलाश के प्रयास में लगे हुए हैं। Also Read - आर्मी ने LAC के अग्र‍िम मोर्चों पर तैनात की बोफोर्स तोपें, चीन को मुंहतोड़ जवाब देने की तैयारी

उन्होंने कहा, “लेकिन, बेहद तकलीफ के साथ हम यह कह रहे हैं कि इन लापता सैनिकों में से किसी के भी जिंदा बचने की उम्मीद अब बेहद कम है।”

गोस्वामी ने कहा कि सेना की उत्तरी कमान के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल डी.एस. हुड्डा ने इस हादसे पर गहरा दुख जताया है। हुड्डा ने कहा कि वह सलाम करते हैं उन सैनिकों को जो सीमाओं की रक्षा करते हैं और फर्ज के लिए जान कुर्बान कर देते हैं।