नई दिल्‍ली: बीजेपी के सीनियर नेता एवं केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को पश्चिम बंगाल के लिए ऑनलाइन रैली की है. शाह ने कहा कि 2014 के बाद से, पश्चिम बंगाल में 100 से अधिक भाजपा कार्यकर्ताओं ने यहां राजनीतिक लड़ाई में अपनी जान गंवा दी है. शाह ने कहा कि बंगाल एकमात्र राज्य है जहां अभी भी सांप्रदायिक हिंसा जारी है. यह रुकना चाहिए. Also Read - सोशल मीडिया में बवाल होने के बाद अब इस राज्य सरकार ने कुत्तों के मांस की बिक्री पर लगाई रोक

अमित शाह ने बंगाल की जनता एवं कार्यकर्ताओं को वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से पश्चिम बंगाल जन-सम्मान रैली को संबोधित करते हुए कहा, मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि बीजेपी यहां सिर्फ एक क्रांति लाने या राजनीति करने के लिए नहीं है, बल्कि फिर से एक सांस्कृतिक और पारंपरिक बंगाल का निर्माण करेगी. हम सोनार बांग्ला को फिर से बनाना चाहते हैं. ‘ शाह ने कहा कि बंगाल एकमात्र राज्य है जहां अभी भी सांप्रदायिक हिंसा जारी है. यह रुकना चाहिए. Also Read - 'सत्ताधारियों और अपराधियों' की मिलीभगत का खामियाजा कर्तव्यनिष्ठ पुलिसकर्मियों को भुगतना पड़ रहा है' : अखिलेश यादव

बीजेपी नेता शाह ने कहा, मैं बंगाल की जनता को ये कहना चाहता हूं कि भले ही भाजपा को 303 सीटें देशभर से मिली है, लेकिन मेरे जैसे कार्यकर्ता के लिए सबसे महत्वपूर्ण है बंगाल की 18 सीटों पर मिली विजय है.

बीजेपी नेता ने कहा कि 2014 के बाद से, पश्चिम बंगाल में 100 से अधिक भाजपा कार्यकर्ताओं ने यहां राजनीतिक लड़ाई में अपनी जान गंवा दी. मैं उनके परिवारों के प्रति सम्मान व्यक्त करता हूं, क्योंकि उन्होंने सोनार बांग्ला के विकास में योगदान दिया है.

शाह ने कहा, मैं आज मोदी 2.0 की सालगिरह पर आता हूं. पिछले छह वर्षों में सब कुछ बदल गया है. बीपीएल में 60 करोड़ का फायदा हुआ है. उन लोगों के लिए चिंतन करने का समय जिन्होंने दिन में हमारी आलोचना की 2. आयुष्मान से 50 करोड़ लोग लाभान्वित हुए.

केंद्रीय मंत्री शाह ने कहा, मोदी सरकार के छह साल ने भारत को हर तरह से आगे बढ़ाया है. इसका उपयोग पूरे देश में समस्याओं को हल करने के लिए किया गया है. छह वर्षों में हम न्यू इंडिया बनाने में आगे बढ़े हैं.

शाह ने कहा, मोदी जी 2014 में देश के प्रधानमंत्री बनें और 2019 में फिर से जनादेश प्राप्त किया और मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का एक वर्ष समाप्त हुआ है. ये 6 साल भारत को हर तरीके से आगे बढ़ाने के 6 साल रहे हैं. ये 6 साल भारत की समस्याओं का समाधान करने के रहे हैं.

शाह ने टीएमसी नेता व सीएम ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए कहा, क्या बंगाल के गरीब लोगों को मुफ्त और गुणवत्तापूर्ण इला पाने का कोई अधिकार नहीं है? फिर आप आयुष्मान भारत योजना को यहां क्यों नहीं चलने देंगे? ममता जी, गरीब लोगों के अधिकारों पर राजनीति करना बंद करें. आप कई अन्य मुद्दों पर राजनीति कर सकते हैं, लेकिन गरीबों के स्वास्थ्य पर नहीं. ‘

शाह ने कहा बंगाल के लोगों को आयुष्मान का लाभ नहीं मिला. ममता सरकार में बंगाल में आयुष्मान भारत योजना की अनुमति नहीं हैं. मैं पूछना चाहता हूं कि ममता बनर्जी इस योजना में गरीबों को भर्ती होने की अनुमति क्यों नहीं देतीं. राजनीति की एक सीमा होती है. यहां तक कि अरविंद केजरीवाल ने भी आयुष्मान योजना को स्वीकार कर लिया है, वह इसे स्वीकार क्यों नहीं कर सकते? मैं वादा करता हूं कि अगर बंगाल में भाजपा का सीएम बन जाता है, तो हम तुरंत आयुष्मान भारत योजना लागू करेंगे.

शाह ने कहा, जब जन सम्पर्क और जन संवाद का इतिहास लिखा जाएगा तो जेपी नड्डा जी के नेतृत्व में भाजपा द्वारा किया गया वर्चुअल रैली का ये प्रयोग एक विशेष अध्याय के रूप में लिखा जाएगा.