नई दिल्लीः पत्रकार और सामाजिक कार्यकर्ता गौरी लंकेश की हत्या के 6 महीने बाद गिरफ्तार किए गए आरोपी नवीन कुमार का एसआईटी नार्को टेस्ट कराएगी. गौरतलब है कि कर्नाटक पुलिस ने शुक्रवार को नवीन को हत्या में शामिल होने के संदेह में गिरफ्तार किया था. उसका संबंध एक दक्षिणपंथी कट्टर संगठन से बताया जाता है. विशेष जांच दल (एसआईटी) ने बताया था कि उसने हथियारों के कथित तस्कर के टी नवीन कुमार को गिरफ्तार किया. उसे 2 मार्च को इस मामले में पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया था. गौरी लंकेश हत्याकांड में यह पहली गिरफ्तारी है.

कर्नाटक के मांड्या जिले के मद्दुरु कस्बे से वास्ता रखने वाले नवीन कुमार के खिलाफ आर्म्स एक्ट की विभिन्न धाराओं के तहत एफआईआर दर्ज की गई है. स्थानीय अदालत ने नवीन कुमार को 15 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा है. इसमें से पांच दिन नवीन एसआईटी के साथ पूछताछ में शामिल रहेंगे. हालांकि कोर्ट ने नवीन के आवाज के सैंपल लेने और उनका नार्को टेस्ट करने से फिलहाल मना किया है.

पिछले साल 5 सितंबर को अज्ञात हमलावरों ने गौरी लंकेश की उनके घर में गोली मारकर हत्या कर दी थी. वह सत्ताविरोधी और दक्षिणपंथ विरोधी के रूप में चर्चित थीं. जांच में पुलिस को पता चला कि नवीन ने गौरी लंकेश की हत्या से कुछ दिन पहले ही अपने साथियों को शेखी बघारते हुए कहा था कि वो जल्द ही एक बड़ा शिकार करने वाला है. पुलिस का दावा है कि बेंगलुरू में जिस समय क्राइम ब्रांच ने नवीन को गिरफ्तार किया, उस समय उनके पास हथियार बरामद हुए थे.