श्रीनगरः जम्मू एवं कश्मीर में आतंकवाद के खिलाफ अभियान चला रही सेना की बड़ी कामयाबी हाथ लगी है. रविवार तड़के शोपियां जिले के एक गांव में हुई मुठभेड़ में हिजबुल मुजाहिदीन और लश्कर-ए-तैयबा के 6 आतंकवादी मारे गए जबकि एक सेना का जवान शहीद हो गया. रक्षा प्रवक्ता ने यह जानकारी दी. मुठभेड़ अब भी जारी है.

ग्रामीणों और सुरक्षाबलों के बीच सुबह झड़प होने से एक नागरिक घायल हो गया. उसे गोली लगी थी. उत्तरी कमान के उधमपुर मुख्यालय के प्रवक्ता ने कहा, “प्रादेशिक सेना का एक जवान शहीद हो गया जबकि राष्ट्रीय राइफल्स, पुलिस के विशेष संचालन समूह (एसओजी) के जवान और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बलों के संयुक्त अभियान के तहत बाटागुंड गांव में आतंकवादियों को मार गिराया गया.”

सुरक्षबलों ने खुफिया जानकारी मिलने के बाद शनिवार को अभियान शुरू किया. पुलिस अधिकारी ने बताया, “जैसे ही सुरक्षाबलों ने घेराव कड़ा किया, वैसे ही आतंवादियों ने फायरिंग शुरू कर दी, जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई.”

मुठभेड़ रात से जारी है. सुरक्षाबल, आतंकवादियों के ठिकानों को निशाना बनाकर उन्हें मार गिरा रहे हैं. दिन के समय ग्रामीणों ने सुरक्षाबलों के अभियान को बाधित करने की कोशिश की. पुलिस अधिकारी ने बताया कि जिस युवक को गोली लगी थी, उसकी पहचान फैजान अहमद के रूप में हुई है. उसे श्रीनगर भेजा गया है.

शुक्रवार को भी मारे गए थे 6 आतंकी
दो दिन पहले ही दक्षिण कश्मीर के बिजबेहरा में शुक्रवार तड़के हुई मुठभेड़ में पाकिस्तान के आतंकवादी संगठनों लश्कर-ए-तैयबा और हिज्बुल मुजाहिदीन के छह आतंकवादी मारे गए थे. इनमें पत्रकार शुजात बुखारी हत्याकांड में संलिप्त आतंकवादी और तीन कमांडर थे. पुलिस ने कहा कि सुरक्षाबलों ने गुरुवार की रात एक ठिकाने पर आतंकवादियों की मौजूदगी के बारे जानकारी मिलने के बाद वागाहामा शक्तिपुरा के तलहटी क्षेत्र में तलाशी अभियान चलाया. पुलिस ने कहा कि एक घर से गोलियां चलाई जा रही थीं. अंधेरे का फायदा उठाकर आतंकवादियों ने भागने का प्रयास किया और मुठभेड़ में छह आतंकवादी मारे गए.