अमृतसर: पंजाब के अमृतसर में स्थित सरकारी मेडिकल कॉलेज ने परिसर में लड़कियों के स्कर्ट, टीशर्ट, जीन्स और शॉर्ट्स पहनने पर प्रतिबंध लगा दिया है. प्राचार्य सुजाता शर्मा की ओर से जारी सर्कुलर के अनुसार कॉलेज परिसर में लड़कों को भी जीन्स की जगह फॉर्मल पैंट पहनने के लिए कहा गया है.

इस सर्कुलर के अनुसार विभागाध्यक्षों को यह सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है कि कॉलेज के विद्यार्थी इसका पालन करें. नया ड्रेस कोड एक अक्तूबर से प्रभावी होगा. लड़कियों को सलवार सूट या फिर फॉर्मल ट्राउजर-शर्ट पहनने को कहा गया है. वहीं, लड़कों को केवल फॉर्मल पैंट-शर्ट की अनुमति दी गई है.

सरकार ने इम्पोर्ट ड्यूटी बढ़ाई, एसी-फ्रिज सहित ये 19 उत्पाद हुए महंगे

हालांकि, सर्कुलर में स्‍पष्‍ट किया गया है कि यह नियम केवल क्‍लासरूम और परीक्षा केंद्र पर लागू होगा. छात्र-छात्राओं के लिए कॉलेज कैंपस या होस्‍टल में किसी तरह का कोई प्रतिबंध नहीं है. लेकिन नयिम का पालन नहीं करने वालों के खिलाफ कॉलेज प्रशासन ने कार्रवाई की चेतावनी दी है.

चुनावों में शिवसेना का साथ चाहती है भाजपा, लेकिन उद्धव ठाकरे का रुख स्‍पष्‍ट नहीं

सर्कुलर में कहा गया है कि जीन्‍स, टीशर्ट, कैप्री और स्‍कर्ट जैसे कपड़े मेडिकल कॉलेज के लिए उपयुक्‍त नहीं हैं. प्रिंसिपल के सहायक का कहना है कि नया नियम यह ध्‍यान में रखकर बनाया गया है कि कॉलेज का माहौल मेडिकल के पढ़ाई के अनुकूल हो. छात्र नेता मनसिमरत सिंह की अगुवाई में छात्रों के एक समूह ने प्राचार्य से मुलाकात कर सर्कुलर को वापस लेने का आग्रह किया. छात्रों ने बताया कि हालांकि, प्राचार्य ने इसे वापस लेने से मना कर दिया.