श्रीनगर: दक्षिण कश्मीर में रविवार को आतंकवादियों की गोलियों से मारे गए जम्मू कश्मीर पुलिस के उपनिरीक्षक मीर इम्तियाज के परिवार के एक सदस्य ने सोमवार को सोशल मीडिया पर लिखा, ‘‘तुम लोगों ने एक व्यक्ति को मार डाला जो कश्मीर से प्यार करता था… आओ और हम सभी का मार डालो.’’

दिवंगत अधिकारी के फेसबुक पेज पर ‘उपिनरीक्षक मीर इम्तियाज के हत्यारों को खुला खत’ शीर्षक से अज्ञात लेखक ने लिखा कि उपनिरीक्षक को मारकर ‘तुम लोगों ने एक बूढ़ी मां के प्यारे और एक बूढे बाप के आज्ञाकारी बेटे की हत्या की है.’ पोस्ट में लिखा गया है, ‘‘तुमलोगों ने एक ऐसे भाई को मार डाला जो अपने भाई और बहन का एकमात्र सहारा था… तुमलोगों ने एक उस लड़की के हर सपने को मार डाला जो शादी करना चाहती थी.’’

अब यूपी की ‘हवा’ भी होने लगी जहरीली, लखनऊ-कानपुर सहित इन शहरों की हालत बेहद खराब

इस पोस्ट में लिखा गया है, ‘‘तुमलोगों ने उस व्यक्ति की हत्या की जिसके सूफी विचार थे, ऐसा व्यक्ति जो सूफीवाद को खूब पढ़ता था….जो कार्ल मार्क्स और हर अलग विचारधारा को पढ़ता था … तुमलोगों ने उस व्यक्ति की हत्या की जो अपने मास्टर बैच में अव्वल आया… जो अपने एसआई बैच में टॉपर्स में एक था.’’

कांग्रेस नेता ने कहा, पर्रिकर अब जीवित नहीं हैं, भाजपा ने नकारा

इस खुले खत में लिखा गया है, ‘‘सबसे अहम बात कि तुमलोगों ने एक ऐसे शख्स को मार डाला जो कश्मीर और उसके लोगों को बेहद प्यार करता था…. जिसकी एक मात्र इच्छा खुशहाल कश्मीर को देखना था.’’ लेखक ने कहा कि मीर अपने बूढे मां-बाप और मुश्किलों से घिरी बहन से मिलने आ रहे थे. उसमें उनकी भांजी का भी जिक्र है जो बार बार मामू को याद कर रही है.

पटरी पर उतरी देश की पहली इंजन रहित ट्रेन, परीक्षणों के बाद शताब्दी एक्सप्रेस की जगह लेगी ‘ट्रेन 18’

इस भावुक पत्र में लिखा है, ‘‘लेकिन तुमलोगों ने जब उसे मारा तो हमलोगों को क्यों नहीं मारा… तुमलोगों ने उसके मां-बाप, बहन,भाई और उस महिला को क्यों नहीं मारा जिसके साथ वह अपनी बाकी जिंदगी बिताना चाहता था.’’ उसमें लिखा गया है, ‘‘कोई उन्हें कैसे सांत्वना दे सकता है…. हम सभी उसके हत्यारों से पूछना चाहते हैं कि तुमलोगों ने हम सभी को क्यों नहीं मार डाला. आओ और हमें भी मार डालो….’’ रविवार को दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले के वाहीबुग में आतंकवादियों ने 30 वर्षीय मीर की गोली मारकर हत्या कर दी थी.