नई दिल्ली: देश में पिछले 45 महीने से घरेलू हवाई यात्रियों की संख्या में हो रही बढ़त में हाल के महीनों में कुछ कमी आई है. मई 2018 तक भारत में घरेलू हवाई यात्रियों की संख्या में लगातार 45वें महीने दो अंकों में बढ़ोतरी दर्ज की गई थी. हालांकि मई के बाद इसमें मामूल कमी आई है. अंतरराष्ट्रीय हवाई यातायात संघ (आईएटीए) ने कहा कि मई में भारत में नागर विमानन सेवा क्षेत्र में राजस्व यात्री किलोमीटर (आरपीके) में 16.6 प्रतिशत की वृद्धि हुई. Also Read - Russia Vaccine Update: रूस ने बना ली कोरोना की वैक्सीन, क्या भारत भी करेगा इस्तेमाल, जानें एम्स की राय

Also Read - रूस में कोरोना की वैक्सीन ‘Sputnik V’ बनकर तैयार, भारत सहित 20 देशों ने दिया 100 करोड़ डोज का ऑर्डर

ये भी पढ़ें- हवाई यात्रा की तर्ज पर ट्रेन में सफर के दौरान एक्स्ट्रा सामान ले जाने पर लगेगा भारी जुर्माना Also Read - नेपाल ने भारतीय नागरिकों के लिए प्रवेश स्थल 20 से घटाकर किए आधे, उड़ानों पर रोक भी बढ़ाई

इसमें कहा गया है कि देश में यात्रियों की संख्या में हाल के कुछ महीनों में मौसम और आर्थिक मोर्चे पर मिले जुले संकेतों के बीच यात्रियों की संख्या में गिरावट आई है फिर भी बड़ी बात यह है कि मई में देश का आरपीके वृद्धि लगातार 45 वें महीने दहाई अंक में रहा.

ये भी पढ़ें- हवाई यात्रियों को सरकार का गिफ्ट, फ्लाइट लेट-कैंसिल होने पर वापस होंगे पैसे

आईएटीए ने कहा, “देश के अंदर हवाई अड्डों के बीच संपर्क में मजबूत वृद्धि से यात्री मांग को समर्थन मिला. 2018 में इससे पिछले वर्ष की तुलना में 22 प्रतिशत अधिक हवाई अड्डों के बीच परिचालन हुआ.” संघ को 2018 में भी यात्रियों की संख्या में तेजी का रुख रहने की उम्मीद है.

(इनपुट: एजेंसी)