बेंगलुरु: कर्नाटक में हुबली जिले के एक निजी इंजीनियरिंग कॉलेज में पढ़ रहे कश्मीर के तीन विद्यार्थियों को पाकिस्तान के समर्थन में कथित रूप से नारेबाजी करने और सोशल मीडिया पर उसका वीडियो पोस्ट करने को लेकर राजद्रोह के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. पुलिस ने बताया कि प्राथमिक सूचना के अनुसार ये विद्यार्थी कश्मीर के शोपियां के रहने वाले हैं और उनके खिलाफ कॉलेज प्रबंधन की शिकायत के आधार पर कार्रवाई की गयी है. Also Read - उत्तरी कश्मीर में मुठभेड़ में पांच आतंकी ढेर, पांच भारतीय जवान भी हुए शहीद

हुबली धारवाड़ के पुलिस आयुक्त आर दिलीप ने कहा, ‘‘ हमें सूचना मिली कि केएलई इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलोजी में अध्ययनरत कश्मीर के तीन विद्यार्थियों ने पाकिस्तान का समर्थन करते हुए नारे लगाये थे.’’ उन्होंने कहा, ‘‘ उन्होंने उसका एक वीडियो बनाया जो सोशल मीडिया पर फैल गया. गोकुल रोड थाने के निरीक्षक की अगुवाई तत्काल हमारी टीम मौके पर पहुंची और उसने उन्हें गिरफ्तार कर लिया.’’ बजरंग दल समेत दक्षिणपंथी संगठनों के कार्यकर्ता कॉलेज के समीप पहुंचे और उन्होंने इन तीनों के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई की मांग की. Also Read - जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों और आतंकियों में मुठभेड़, 9 आतंकी ढेर, एक जवान शहीद

जब इन तीनों विद्यार्थियों को थाने ले जाया जा रहा था तब उनके चेहरे ढके थे और उस दौरान एक दक्षिणपंथी कार्यकर्ता ने उनपर हमला करने का प्रयत्न किया लेकिन पुलिस ने उन्हें सुरक्षा प्रदान की. अधिकारी के अनुसार राजद्रोह और सांप्रदायिक सद्भाव बिगाड़ने से जुड़ी भादंसं की धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज की गयी है. दिलीप ने कहा, ‘‘ हम जांच कर रहे हैं और जो भी सामने आएगी, हम सबूतों, कानून और तथ्यों के लिहाज से हम आगे की कार्रवाई करेंगे.’’ Also Read - सेना ने कुपवाड़ा में घुसपैठ की कोशिश नाकाम की, पांच आतंकी ढेर, तीन जवान शहीद

उन्होंने कहा, ‘‘हम उनकी पृष्ठभूमि खंगालेंगे और यह पता करेंगे कि किसी ने उन्हें गुमराह करने का प्रयास तो नहीं किया.’’ उन्होंने यह भी कहा कि गिरफ्तारियों को किसी खास समुदाय या क्षेत्र के विरूद्ध कार्रवाई के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए. अधिकारियों के अनुसार तीनों ने सेल्फी वीडियो बनाकर उसे व्हाट्सअप पर डाला जो सोशल मीडिया पर फैल गया.

वीडियो में बैकग्राउंड म्यूजिक के बीच शुरू में उनमें से एक कुछ कथित रूप से कुछ कहते हुए नजर आ रहा है. उसके बाद वे तीनों एक के बाद एक कर आजादी चिल्लाते हैं. वे पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगोते हैं. बताया जाता है कि बैकग्राउंड म्यूजिक पाकिस्तान की सेना की मीडिया शाखा इंटर सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस का है. पुलिस का कहना है कि इसकी जांच की जरूरत है.

इस बीच, कॉलेज के प्राचार्य बसावराज अनामी ने कहा कि कॉलेज ने पुलिस से शिकायत की है और तीनों निलंबित किये जाएंगे. उधर इसी जिले से आने वाले केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी ने इस कृत्य को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया और संलिप्त लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की.

(इनपुट भाषा)