नई दिल्ली। दिल्ली-एनसीआर में लगातार गहराते वायु प्रदूषण संकट को लेकर आज दिल्ली हाई कोर्ट ने अहम निर्देश दिए, वहीं एनजीटी ने दिल्ली और इसके पड़ोसी राज्य सरकारों को कड़ी फटकार लगाई. हाई कोर्ट ने दिल्ली में पार्किंग फीस चार गुना करने पर भी सवाल उठाए. ईपीसीए ने दिल्ली सरकार को पार्किंग फीस बढ़ाने ने सलाह दी थी.Also Read - प्रदूषण से निपटने के दिल्ली मेट्रो का खास प्लान, अधिक एंटी-स्मॉग गन तैनात करेगी DMRC

दिल्ली हाई कोर्ट ने प्रदूषण रोकने के लिए पार्किंग फीस चार गुना करने के फैसले पर सवाल उठाए. कोर्ट ने कहा कि पिछले साल ऑड-ईवन स्कीम ने दिल्ली को फायदा पहुंचाया था, इस बार भी कुछ समय के लिए ऑड-ईवन व्हीकल मूवमेंट स्कीम चलाई जाए. अदालत ने प्रदूषण रोकने के लिए बादल बरसाने की संभावना पर भी विचार करने को कहा. 

Smog in Delhi: CM Kejriwal’s emergency meeting with LG, decision on Odd-Even tomorrow | केजरीवाल की एलजी के साथ आपात बैठक, कंस्ट्रशन-ट्रकों पर रोक, ऑड-ईवन पर फैसला कल

Smog in Delhi: CM Kejriwal’s emergency meeting with LG, decision on Odd-Even tomorrow | केजरीवाल की एलजी के साथ आपात बैठक, कंस्ट्रशन-ट्रकों पर रोक, ऑड-ईवन पर फैसला कल

Also Read - अरविंद केजरीवाल ने कहा- पंजाब के CM मुझे गाली दे रहे हैं, मेरा रंग काला, लेकिन नीयत साफ है

वहीं, एनजीटी ने आज स्मॉग को लेकर दिल्ली सरकार और दिल्ली के पड़ोसी राज्यों को जमकर फटकार लगाई. एनजीटी ने कहा कि इस मामले से जुड़े सभी पक्षों के लिए ये शर्मनाक है कि वो आने वाली पीढ़ी के लिए क्या संदेश दे रहे हैं. एनजीटी ने स्मॉग से निपटने के लिए कई अहम निर्देश भी जारी किए. Also Read - पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा 'काले अंग्रेज', केजरीवाल बोले, 'लेकिन नीयत साफ है'

एनजीटी ने क्या-क्या कहा

-सभी संवैधानिक संस्थाएं, प्रशासन अपनी जिम्मेदारी निभाने में नाकाम रहे हैं. सभी पक्षों के लिए ये एक सामूहिक जिम्मेदारी है.

-निर्माण गतिविधिया धड़ल्ले से चल रही हैं और अभी तक इन्हें रोका नहीं गया है. जब ऐसे हालात पैदा हो गए हैं तो कार्रवाई के आश्वासन दिए जा रहे हैं.

– 10 साल से पुराने पेट्रोल वाहन और 15 साल पुराने डीजल वाहनों को दिल्ली आने से रोका जाए.

-दिल्ली-एनसीआर में कंस्ट्रक्शन का सामान लाने वाले ट्रकों की एंट्री पर रोक.  दिल्ली-एनसीआर में 14 नवंबर तक विनिर्माण कार्यों और औद्योगिक गतिविधियों पर प्रतिबंध.

-दिल्ली में औद्योगिक गतिविधियों पर अगली सुनवाई तक रोक लगाई जाए. प्रदूषण गतिविधियों पर नियंत्रण रखने के लिए अधिकारी नियुक्त किए जाएं.

-एनजीटी ने दिल्ली सरकार से पूछा कि उसने प्रदूषण से निपटने के लिए क्या कदम उठाए हैं. नियम तोड़ने वाले कितने लोगों का चालान काटा गया है. कितनी साइटों पर निर्माण कार्य रोका गया है?

-प्रदूषण रोकने के लिए हेलीकॉप्टर से कृत्रिम बारिश क्यों नही कराई गई? 

Causes and Effects of Smog | गैस चैंबर बनी दिल्ली, स्मॉग से आपकी हेल्थ को गंभीर खतरा, जानिए बचने के तरीके

Causes and Effects of Smog | गैस चैंबर बनी दिल्ली, स्मॉग से आपकी हेल्थ को गंभीर खतरा, जानिए बचने के तरीके

-सीबीसीबी की रिपोर्ट बताती है कि दिल्ली-एनसीआर में खतरे का स्तर लगातार बढ़ता जा रहा है. , जिन जगहों पर पीएम 10 की मात्रा 600 माइक्रोग्राम्स प्रति क्यूबिक मीटर से ज्यादा हो, वहां पानी का छिड़काव करें.

-दिल्ली-एनसीआर में कहीं कचरा ना जलाया जाए, यह सुनिश्चित करने के लिए टीमों का गठन करें.

-अधिकारी वातावरण में वायु की गुणवत्ता सुधारने के लिए ईपीसीए के निर्देशों का पालन करें.

दिल्ली सरकार ने लिए ये फैसले

स्मॉग से निपटने के लिए दिल्ली सरकार ने कई अहम फैसले लिए है. दिल्ली में रविवार तक सभी स्कूल बंद रखने के आदेश दिए हैं. बुधवार को सीएम अरविंद केजरीवाल ने उपराज्यपाल अनिल बैजल के साथ आपात बैठक की जिसके बाद कई अहम फैसले लिए गए. इसके तहत अब दिल्ली में जरूरत का सामान लाने वाले ट्रकों को ही एंट्री मिलेगी. इसके अलावा दिल्ली में सिविल कंस्ट्रक्शन के कामों पर भी अगले आदेश तक रोक रहेगी.

वहीं, ईपीसीए दिल्ली में दोबारा ऑड-ईवन पर आज फैसला लेगा. उसकी सलाह पर ही दिल्ली में पार्किंग शुल्क में चार गुना बढ़ोतरी की गई है. इसके अलावा मेट्रो-बस फेरे भी बढ़ाने का फैसला लिया गया है ताकि लोग वाहन छोड़कर मेट्रो और बसों का इस्तेमाल करें.