नई दिल्ली. केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने बुधवार को एक बार फिर गांधी-वाड्रा परिवार पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि पिछले 24 घंटे में जिस तरह से सबूत हाथ लगे हैं उससे साबित होता है कि गांधी-वाड्रा परिवार ने पारिवारिक भ्रष्टाचार किया है. उन्होंने कहा कि रिपोर्ट्स बता रहे हैं कि एचएल पाहवा को फाइनेंस किया गया था और पाहवा ने ही सीसी थंपी की मदद की थी. उन्होंने कहा कि जांच में खुलासा हुआ है कि दोनों की बीच कई किश्तों में 54 करोड़ रुपये का आदान-प्रदान हुआ.

स्मृति ने कहा, आर्म्स डीलर संजय भंडारी से भी राबर्ड वाड्रा के रिश्ते निकल कर आए हैं. रिपोर्ट के मुताबिक, डिफेंस डील में दोनों के रिश्ते सामने आए हैं. यूपीए सरकार के दौरान दोनों की मिलीभगत में भ्रष्टाचार हुआ है. इतना ही नहीं, स्मृति ने कहा कि नई जांच रिपोर्ट बताती है कि राहुल गांधी और संजय भंडारी के बीच भी करीबी रिश्ता था.

राहुल गांधी पर लगाया आरोप
स्मृति ने कहा कि ऐसे में देश इस नतीजे पर निकलता है राहुल गांधी की डिफेंस डील में तत्परता सिर्फ उनकी पॉलिटिक्स के लिए नहीं है. बल्कि उन्होंने अपने और अपने परिवार को फायदा पहुंचाने के लिए इस डील में इंट्रे्स्ट दिखाया है.