जम्मू: कश्मीर में 31 दिसंबर की मध्यरात्रि से सभी सरकारी अस्पतालों में इंटरनेट सेवाएं और सभी मोबाइल फोनों पर एसएमएस सेवा बहाल कर दी जाएगी. जम्मू-कश्मीर के आधिकारिक प्रवक्ता रोहित कंसल ने मंगलवार को यह जानकारी दी. इससे पहले छात्रों, छात्रवृत्ति आवेदकों, कारोबारियों और अन्य की सुविधा के लिए दस दिसंबर को मोबाइल फोनों पर एसएमएस सेवा शुरू की गई थी. कंसल ने कहा कि 31 दिसंबर की मध्यरात्रि से पूरे कश्मीर में सेवाएं पूरी तरह बहाल करने का फैसला लिया गया है.

 


बता दें कि पांच अगस्त को जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 के प्रावधान खत्म कर उसे दो केन्द्र शासित प्रदेशों जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में विभाजित करने की केन्द्र सरकार की घोषणा के बाद इंटरनेट सेवाओं पर पाबंदी लगा दी गई थी. कश्मीर में इंटरनेट सेवाओं पर पाबंदी को मंगलवार को 149 दिन पूरे हो गए. अधिकारियों ने बताया कि नए साल से घाटी में सिर्फ सभी सरकारी अस्पतालों में इंटरनेट सेवाएं बहाल की गई हैं, जबकि सभी मोबाइल फोनों पर एसएमएस सेवा बहाल कर दी जाएगी.


कश्मीर में चरणबद्ध तरीके से ब्रॉडबैंड इंटरनेट सेवाएं बहाल की जा रही: राम माधव
इससे पहले भाजपा महासचिव राम माधव ने बृहस्पतिवार को कहा था कि कश्मीर में चरणबद्ध तरीके से ब्रॉडबैंड इंटरनेट सेवाएं बहाल की जा रही हैं. उन्होंने यहां पत्रकारों से कहा था कि ब्रॉडबैंड इंटरनेट सेवाएं चरणबद्ध तरीके से बहाल की जा रही हैं. होटलों में सुविधाएं शुरू की जा चुकी हैं. बता दें कि लद्दाख के करगिल जिले में बीते शुक्रवार को मोबाइल इंटरनेट सेवाएं शुरू कर दी गईं. अधिकारियों ने बताया कि करगिल में पूरी तरह से हालात सामान्य होने के मद्देनजर मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बहाल कर दी गईं. बीते चार महीने से जिले में कोई अप्रिय घटना नहीं हुई है.