नई दिल्ली: फ्लिपकार्ट और स्‍नैपडील के मर्जर को स्नैपडील ने ठंडे बस्ते में डाल दिया है. स्‍नैपडील ने फ्लि‍पकार्ट के साथ होने वाले मर्जर के करार को तोड़ दि‍या है. कंपनी ने कहा है कि‍ वह अकेले ही आगे बढ़ेगी. Also Read - Flipkart Grand Home Appliances Sale: होली से पहले यहां बिक रहे सस्ते सामान, जल्दी करें शॉपिग

बता दें कि दोनों कंपनियों के बीच पिछले छह महीने से चल रही वियल सौदे की बातचीत सोमवार को बिना किसी परिणाम के ही खत्‍म हो गई. कंपनी ने कहा कि वह एक स्‍वतंत्र रास्‍ता अपनाएगी. Also Read - Flipkart Mobile Bonanza sale: फ्लिपकार्ट लेकर आया एक और सेल, मोबाइल फोन्स पर मिल रही बंपर छूट

इससे पहले भी फ्लिपकार्ट को स्नैपडील ने झटका दिया था, जब स्नैपडील ने फ्लिपकार्ट के उस ऑफर को ठुकराया था, जिसमें उसे खरीदने के लिए फ्लिपकार्ट ने 5500 करोड़ रुपए की पेशकश की थी. स्नैपडील के बोर्ड को लगता है कि फ्लिपकार्ट उसका वैल्युएशन कम लगा रही है. Also Read - 2021 में 11.5 फीसदी रहेगी भारत की आर्थिक विकास दरः आईएमएफ

 

हालांकि, स्‍नैपडील के फाउंडर्स कुणाल बहल और रोहित बंसल यह नहीं चाहते हैं कि स्‍नैपडील को फ्लिपकार्ट खरीदे. स्‍नैपडील की योजना पेमेंट वॉलेट फ्रीचार्ज और लॉजिस्टिक इकाई वल्‍कन एक्‍सप्रेस की बिक्री से मिलने वाली राशि से एक छोटे वर्जन में स्‍नैपडील का परिचालन आगे भी जारी रखने की है.