नई दिल्ली: हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के ऊंचाई वाले इलाकों में मंगलवार को हुई बर्फबारी और मैदानी इलाकों में छिटपुट बारिश ने ठंड बढ़ा दी है. कृषि विशेषज्ञों के मुताबिक इस समय हल्की बारिश फसल के लिए अच्छी मानी जाती है. Also Read - Cyclone Nivar: चक्रवाती तूफान ‘निवार’ हो रहा विकराल, 130-140 KM/ घंटे तेज चलेंगी हवाएं, तमिलनाडु में छुट्टी घोष‍ित

मौसम विज्ञानियों ने कश्मीर घाटी में बर्फबारी या बारिश का अनुमान जताया है. कश्मीर और हिमाचल प्रदेश के ऊपरी इलाकों में मौसम पहले से सर्द है. हालात ऐसे हैं कि यहां पानी पाइप के भीतर जम गया. मैदानी इलाकों में कोहरे से यातायात प्रभावित हुआ. आसमान में बादल छाए रहने से तापमान तेजी से गिरा. Also Read - Mumbai Rain: मुंबई में बारिश से बढ़ी मुसीबतें, पानी से भरी लिफ्ट में फंसकर दो चौकीदारों की मौत

राष्ट्रीय राजधानी में हल्की बारिश और कोहरे के कारण मौसम ठंडा बना रहा. मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि शहर का न्यूनतम तापमान 9.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. अधिकतम तापमान 17 डिग्री रहा. सफदरजंग वेधशाला ने शाम साढ़े पांच बजे तक 4.4 मिलीमीटर बारिश दर्ज की थी. हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला और आस पास के इलाकों सिरमौर, सोलन और लाहौल तथा स्पीति में बर्फबारी हुई.

कश्मीर के करगिल में तापमान शून्य से 19.2 डिग्री सेल्सियस नीचे रहा. लेह में पारा शून्य से 14 डिग्री सेल्सियस कम रहा. श्रीनगर में शून्य से 3.7 डिग्री सेल्सियस नीचे तापमान दर्ज किया गया. पंजाब और हरियाणा के कई इलाकों में हल्की बारिश हुई. पंजाब में अमृतसर, लुधियाना और पटियाला में तापमान क्रमश: 6.7 डिग्री, 6.4 डिग्री और 9.6 डिग्री दर्ज किया गया.

हरियाणा के अंबाला में न्यूनतम तापमान 10.2 डिग्री दर्ज किया गया. पश्चिमी विक्षोभ के कारण राजस्थान के कुछ इलाकों में हल्की बारिश हुई. उत्तर प्रदेश में फुरसतगंज 3.6 डिग्री तापमान के साथ राज्य का सबसे ठंडा स्थान रहा.