नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ दिवाली मनाने के बाद जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा की रक्षा कर रहे सेना के जवानों ने कहा कि वे बहुत खुश और गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं.

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 के विशेष अधिकार वाले प्रावधान हटाए जाने के बाद मोदी पहली बार राज्य के किसी सीमावर्ती जिले में पहुंचे. उन्होंने बी जी ब्रिगेड मुख्यालय पर जवानों के साथ संवाद किया.

प्रधानमंत्री से मुलाकात और बातचीत के बाद खुश नजर आ रहे ज्यादातर जवानों ने इस बारे में बातचीत से इनकार किया, हालांकि कुछ सैनिकों ने वहां से जाते-जाते संवाददाताओं से बातचीत की.

प्रधानमंत्री मोदी ने इंफेंट्री दिवस पर सैनिकों को दी बधाई, कहा- इंफेंट्रीमैन लगन और बहादुरी का द्योतक हैं

एक जवान ने कहा, ‘हमने कभी नहीं सोचा था कि हम प्रधानमंत्री से मुलाकात करेंगे. उन्होंने हमारे लिए दिवाली के जश्न को यादगार बना दिया.’

उन्होंने कहा कि मोदी का दौरा हैरान करने वाला था और ‘हम उनसे मुलाकात के बाद खुश और गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं.’

जवानों के साथ दिवाली मनाने के लिए प्रधानमंत्री की तारीफ करते हुए एक जवान ने कहा कि मोदी का यह कदम उन सैनिकों का हौसला बढ़ाने वाला था जो देश को सुरक्षित रखने के लिए सीमा की सुरक्षा में 24 घंटे डंटे रहते हैं.

Mann Ki Baat: राम जन्मभूमि विवाद से लेकर सियाचिन के जवानों तक, पढ़िए पीएम मोदी के मन की बात कार्यक्रम की 6 बड़ी बातें

उन्होंने कहा, ‘प्रधानमंत्री बहुत अच्छे हैं और सीमा की सुरक्षा में हमारी भूमिका की सराहना की. उन्होंने विश्वास दिलाया कि उनकी सरकार हमारे साथ खड़ी है और राष्ट्र की सेवा में हमारे योगदान की स्वीकार्यता के लिए हर संभव प्रयास होगा.’

(इनपुट-भाषा)