मुंबई। पूर्व केन्द्रीय गृह सचिव जी के पिल्लै ने आज यहां कहा कि केन्द्रीय गृह मंत्रालय के कुछ अधीनस्थ कर्मी कार्यालय में अश्लील सामग्री देखते थे और इन्हें डाउनलोड करते थे. इसके कारण कम्प्यूटर नेटवर्क में गड़बड़ हो जाती थी. नैसकॉम द्वारा प्रमोटिड गैरलाभ संगठन ‘डेटा सिक्योरिटी काउंसिल आफ इंडिया ’ (डीएससीआई ) के अध्यक्ष पिल्लै ने कहा कि जब मैं करीब आठ नौ साल पहले केन्द्रीय गृह सचिव था तो हर 60 दिन में हमें पूरा कम्प्यूटर गड़बड़ मिलता था. Also Read - WhatsApp Scam message: अलर्ट! WhatsApp पर इस मैसेज से रहें सावधान, नहीं तो खाली हो जाएगा आपका बैंक अकाउंट

Also Read - Lockdown News Update: गृह मंत्रालय ने लॉकडाउन को लेकर राज्यों को दिया ये निर्देश, यहां जानिए आपके इलाके में लगेगा या नहीं?

उन्होंने कहा कि मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी देर शाम तक बैठकों में व्यस्त होते थे जिसके कारण अधीनस्थ कर्मियों को बैठक के बाद के काम के लिए ऑफिस में रुकना पड़ता था. उन्होंने यहां पहले ‘फिनसेक कनक्लेव ’ को संबोधित करते हुए कहा कि इसलिए वे (अधीनस्थ कर्मी ) क्या करेंगे ? वे जाते हैं और इंटरनेट खोलते हैं और वे अश्लील वेबसाइटों पर चले जाते हैं और वे सभी तरह की चीजों को डाउनलोड करते हैं जिनके साथ ‘मालवेयर ’ भी डाउनलोड हो जाते हैं. Also Read - Delhi Violence: उमर खालिद पर चलेगा UAPA के तहत केस, गृह मंत्रालय और दिल्ली सरकार की मिली मंजूरी

रक्षा मंत्रालय की वेबसाइट ने काम करना शुरू किया, हैकिंग की आई थी खबर

रक्षा मंत्रालय की वेबसाइट ने काम करना शुरू किया, हैकिंग की आई थी खबर

सरकारी साइटों में आई थी गड़बड़ी

उन्होंने कहा कि मंत्रालय ने भी निर्देश जारी किए और विस्तृत समीक्षा में यह बात सामने आई. उनकी यह टिप्पणी ऐसे समय में सामने आयी है जब कुछ ही दिन पहले कुछ सरकारी वेबसाइटों में संदिग्ध रूप से गड़बड़ी सामने आई थी. हालांकि सरकार ने बाद में साफ किया था कि ये वेबसाइटें हैक नहीं हुई थी बल्कि इसका कारण हार्डवेयर की कोई तकनीकी खामी था.

कुछ दिन पहले रक्षा मंत्रालय की वेबसाइट में गड़बड़ी आ गई थी. पहले बताया गया कि इसे चीन के हैकरों ने हैक कर लिया. इस पर कुछ चीनी शब्द भी लिखे नजर आ रहे थे. करीब 5 घंटे तक साइट ठप पड़ी रही थी.  इसी तरह गृह मंत्रालय की साइट भी डाउन हो गई थी. अधिकारियों ने कहा था कि इस साइट को एहतियातन डाउन किया गया है. एनआईएसी के अधिकारियों ने कहा कि हार्डवेयर में तकनीकी समस्या के कारण साइट हैंग हो गई.