नई दिल्ली: पूर्व लोकसभा अध्यक्ष व 10 बार सांसद रहे सोमनाथ चटर्जी के निधन पर पीएम मोदी, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू समेत तमाम गणमान्य लोगों ने दुःख जताते हुए शोक संवेदना व्यक्त की है. लंबी बीमारी से जूझ रहे सोमनाथ चटर्जी का आज सुबह कोलकाता के अस्पताल में निधन हो गया. पीएम मोदी ने ट्वीट करके पूर्व लोकसभा अध्‍यक्ष सोमनाथ को भारतीय राजनीति का पुरोधा बताते हुए उनको श्रद्धांजलि दी है.Also Read - PM मोदी ने लोकमान्‍य तिलक और शहीद चंद्रशेखर आजाद की जयंती पर उन्‍हें अर्पित की श्रद्धांजलि

Also Read - Mumbai Heavy Rainfall Update: पीएम मोदी ने महाराष्ट्र में बाढ़ को लेकर सीएम ठाकरे से फोन पर की बात, हरसंभव मदद का किया वादा

पीएम मोदी ने ट्वीट करके पूर्व लोकसभा अध्‍यक्ष सोमनाथ को भारतीय राजनीति का पुरोधा बताते हुए उनको श्रद्धांजलि दी है. राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उनकी मृत्यु पर शोक जताते हुए कहा कि सोमनाथ चटर्जी ने हमारे संसदीय लोकतंत्र को मजबूत किया. साथ ही वह गरीबों और असहाय के बेहतरी की बुलंद आवाज थे. पीएम मोदी ने कहा कि सोमनाथ चटर्जी के निधन से दुख हुआ. पीएम मोदी ने कहा कि उन्होंने भारतीय लोकतंत्र को समृद्ध बनाया था. उन्‍होंने कहा कि उनकी संवेदनाएं सोमनाथ चटर्जी के परिवार और समर्थकों के साथ हैं. Also Read - भाजपा संसदीय दल की बैठक में प्रधानमंत्री ने विपक्षी दलों के रवैये पर जताई चिंता

अमित शाह ने भी जताया शोक
सोमनाथ चटर्जी के निधन पर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने दुख जताया,.भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह ने भी लोकसभा के पूर्व अध्यक्ष सोमनाथ चटर्जी को एक उत्कृष्ट सांसद बताते हुए उनके निधन पर शोक प्रकट किया. कोलकाता के एक निजी अस्पताल में 89 वर्षीय चटर्जी का आज सुबह निधन हो गया. उनके कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था. शाह ने ट्वीट किया, “लोकसभा के पूर्व अध्यक्ष सोमनाथ चटर्जी के निधन के बारे में जानकर दुखी हूं.”

उन्होंने कहा, “वह एक बेहतरीन सांसद थे, सदन के सदस्य के तौर पर उनके लंबे कार्यकाल ने हमारी संसदीय परंपराओं को समृद्ध बनाया. इस दुख की घड़ी में मेरी संवेदनाएं उनके परिवार और समर्थकों के साथ है.” चटर्जी किडनी संबंधी बीमारी से पीड़ित थे और बीते मंगलवार को उन्हें नाजुक हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया था. उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने उन्हें बेहतरीन नेता बताते हुए अपनी शिक संवेदना व्यक्त की उन्होंने कहा कि सोमनाथ चटर्जी ने हमेशा लोगों की समस्यायों को प्रमुखता से उठाया और अपने सिद्धांतों पर कायम रहे.