दंतेवाड़ा: सामाजिक कार्यकर्ता और आम आदमी पार्टी की नेता सोनी सोरी को बिना अनुमति छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में जनसभा करने के आरोप में शनिवार को गिरफ्तार किया गया. दंतेवाड़ा के पुलिस अधीक्षक अभिषेक पल्लव ने बताया कि सोरी को पलनार गांव से सीआरपीसी की धारा 151, 107 और 116 के तहत गिरफ्तार किया गया. स्थानीय अदालत से जमानत मिलने के बाद उन्हें रिहा कर दिया गया.

राम मंदिर निर्माण कार्य का नाम लिए बिना CM योगी बोले- जल्द मिलेगी बड़ी खुशखबरी

जानकारी के मुताबिक जेल में बंद आदिवासियों की रिहाई की मांग को लेकर सोनी सोरी आंदोलन करना चाहती थी. इसके लिए उन्होंने प्रशासन को आवेदन भी दिया था, लेकिन इसे निरस्त कर दिया गया था. बताया जा रहा है कि आवेदन में जगह और लोगों की संख्या नहीं दी गई थी. इस वजह से आवेदन को जिला प्रशासन ने रिजेक्ट कर दिया था. सोनी सोरी को सभा की अनुमित नहीं दी गई थी. लेकिन फिर भी सोनी सोरी शनिवार को लोगों को लेकर इकट्ठा होने लगी.

बताया जा रहा है कि बस्तर के विभिन्न इलाकों के जेलों में बंद आदिवासियों की रिहाई के लिए सोनी सोरी मांग कर रही थी। दंतेवाड़ा, बीजापुर और सुकमा जिले के हजारों आदिवासी शनिवार से दंतेवाड़ा जिले के कुआकोंडा इलाके में अनिश्चितकालीन आंदोलन पर करने वाले थे.