पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने बुधवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) से मुलाकात की. ममता ने सोनिया गांधी के आवास 10 जनपथ पहुंचकर उनसे मुलाकात की. न्यूज एजेंसी ANI के अनुसार, इस दौरान 10 जनपथ पर राहुल गांधी भी मौजूद थे. ममता बनर्जी ने इससे पहले मंगलवार को कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं कमलनाथ, अभिषेक मनु सिंघवी और आनंद शर्मा से भी मुलाकात की थी.Also Read - कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव: ‘जी 23’ के चार नेताओं ने बैठक की, कहा- जो सबसे सही होगा, उसका समर्थन करेंगे

कहा जा रहा है कि तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख 2024 के लोकसभा चुनाव से पहले राष्ट्रीय स्तर पर बड़ी भूमिका निभाने की तैयारी में हैं. पश्चिम बंगाल में लगातार तीसरी बार सत्ता पर काबिज होने वाली ममता बनर्जी का विधानसभा चुनाव में जीत दर्ज करने के बाद यह पहला दिल्ली दौरा है. Also Read - कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव: दिग्विजय सिंह के प्रस्तावक बनेंगे मध्य प्रदेश के 12 विधायक, शुक्रवार को होगा नामांकन

Also Read - कांग्रेस ने अपने नेताओं को दी चेतावनी, राजस्थान मामले में टिप्पणी करने पर होगी कार्रवाई

इससे पहले ममता बनर्जी ने BJP को रोकने के लिए विपक्ष का चेहरा बनाए जाने के मुद्दे पर मिलीजुली प्रतिक्रिया दी. उन्होंने कहा कि यह सब परिस्थितियों पर निर्भर करेगा. नेतृत्व के मुद्दे पर उन्होंने कहा, ‘मैं बिल्ली के गले में घंटी बांधने में सभी विपक्षी दलों की सहायता करना चाहती हूं. मैं नेता नहीं, बल्कि आम कार्यकर्ता बनना चाहती हूं.’

बनर्जी से संवाददाताओं ने पूछा कि क्या वह विपक्ष का चेहरा बनना चाहती हैं? जवाब में उन्होंने कहा, ‘मैं कोई राजनीतिक भविष्यवक्ता नहीं हूं. यह परिस्थिति, सरंचना पर निर्भर करता है. अगर कोई और नेतृत्व करता है तो मुझे कोई समस्या नहीं. जब इस मुद्दे पर चर्चा होगी तब हम निर्णय ले सकते है. मैं अपना निर्णय किसी पर थोप नहीं सकती.’

पेगासस के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि स्थिति आपातकाल से भी ज्यादा गंभीर है और केंद्र सरकार जवाब नहीं दे रही. तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष बनर्जी ने कहा, ‘सभी जगह वे प्रवर्तन निदेशालय आयकर विभाग को छापा मारने के लिए भेज रहे हैं. यहां कोई जवाब नहीं दे रहा है. लोकतंत्र में सरकार को जवाब देना चाहिए. स्थिति बेहद गंभीर है, यह आपातकाल से भी ज्यादा गंभीर है.’

(इनपुट: ANI,भाषा)